गोण्डा:- धनाभाव के कारण प्रदेश के किसी भी गरीब व्यक्ति की बेटी के हाथ पीले होने से नहीं रहेंगे। हर गरीब की बेटी का विवाह प्रदेश की सरकार करा रही है। विगत 04 वर्षों में प्रदेश में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत तीन लाख से अधिक गरीब व्यक्तियों की बेटियों की शादी प्रदेश सरकार द्वारा कराई गई है और आने वाले दिनों में कोई भी ऐसा गरीब व्यक्ति नहीं बचेगा जिसकी बेटी का विवाह पैसे न होने के कारण रूका रहे। ये बातें कैबिनेट मंत्री समाज कल्याण रमापति शास्त्री ने नगर पालिका नवाबगंज में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही।

नगर पालिका नवाबगंज कस्बे के एक मैरिज हाल में रविवार को समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 32 जोड़े दाम्पत्य बंधन के सूत्र में बंधे। कार्यक्रम में पांच ब्लाक से युगल इसमें शामिल हुए। सूबे के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, सदर विधायक प्रतीक भूषण सिंह, डीएम मार्कण्डेय शाही, सीडीओ शंशाक त्रिपाठी, चेयरमैन सत्येन्द्र सिंह समेत अनेक अधिकारी और जनप्रतिनिधि इस मौके वर वधू को आशिर्वाद देने पहुंचे। मुख्य अतिथि श्री शास्त्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा प्रदेश भर के कमजोर वर्ग के बेटियों को इस योजना के द्वारा हाथ पीले कराए जाने के फैसले को समाज कल्याण विभाग बखूबी अंजाम दे रहा है।
डीएम मार्कण्डेय शाही ने कहा कि प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री सामूूहिक विवाह योजना के तहत आज 32 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया गया है जिसमें 03 मुस्लिम बेटियां तथा 29 हिन्दू बेटियों का विवाह कराया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा गरीबों की बेटियों के लिए 35 हजार रूपए आर्थिक सहायता के अतिरिक्त पायल, बिछुआ, टंकी, कई तरह के बर्तन, साड़ी, दूल्हे के लिए पगड़ी व दुल्हन के लिए चुनरी सहित डिनर सेट प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में हर ब्लाक से ऐसे गरीब परिवार जिनकी बेटी की आयु 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी हो और आर्थिक तंगी के कारण वे अपनी बेटी का विवाह न कर पा रहे हों, वे लोग प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत पंजीकरण कराएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना वर्तमान में सामाजिक समरसता का कार्य कर रही है। इस योजना से हर जाति, धर्म व सम्प्रदाय के लोगों को लाभ मिल रहा है तथा एक ही मण्डप में विभिन्न धर्मों के मानने वाले लोगों की बेटियों की शादियां उनकी रीति रिवाज से कराई जा रही है।

तीन मुस्लिम बेटियों का भी हुआ निकाह

मैरिज हाल में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में तीन मुस्लिम जोड़ों का भी निकाह पढ़ाया गया, जिनमें नवाबगंज, तरबगंज और बेलसर ब्लाक के एक-एक जोड़े के नाम शामिल हैं। कार्यक्रम में नवाबगंज ब्लाक के 17, वजीरगंज के 3, तरबगंज के 4, बेलसर के 7 और मनकापुर के एक जोड़े शामिल रहे।
रिपोर्ट राहुल तिवारी

रिपोर्ट राहुल तिवारी जिला संवाददाता गोंडा