5 सितंबर को प्रबंधक व शिक्षक काली पट्टी बांधकर करेंगे सांकेतिक विरोध प्रदर्शन

by anil
120 views

(बलरामपुर)

बलरामपुर उत्तर प्रदेश वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक समिति शिक्षक दिवस पर प्रबंधक व शिक्षक समस्याओं को लेकर काला फीता बांधकर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेगा यह निर्णय जिला इकाई ने प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर करने का फैसला लिया है संघ जिला संरक्षक डॉक्टर अविनाश पांडे ने कहा कि इतिहास में पहली बार ऐसा होगा कि शिक्षक दिवस पर शिक्षक को सम्मान के बजाय अपने जीविका चलाने की सोच मैं जीवन यापन करना होगा मार्च महीने से स्कूल बंद होने के कारण शिक्षक भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं प्रबंधक चाह कर भी शिक्षकों को स्कूल में फीस ना आने के कारण मानदेय देने में विफल साबित हो रहे हैं शिक्षक भी प्रबंधकों की पीड़ा को समझते हुए हालात से समझौता कर लिया है शिक्षक प्रबंधन की इस भयावह स्थिति को देखने के बाद भी केंद्र व राज्य सरकार का गंभीर ना होना निश्चय ही मानवता को तार-तार करना है संघ के जिला संयोजक आशीष उपाध्याय एवं जिला अध्यक्ष श्रवण कुमार शुक्ला ने संयुक्त रूप से बताया कि आज जिन हालातों में निजी स्कूलों के शिक्षक पेट की भूख मिटाने को लेकर विपरीत परिस्थितियों से लड़ रहे हैं सरकार का इस ओर ध्यान न जाना निश्चय ही उनके विश्वास को कम करना है सरकार भले ही कोरोनावायरस महामारी में जनमानस को हर संभव मदद देने का दावा कर रही हो लेकिन धरातल पर जब पढ़े-लिखे जमात की यह हाल है तो अन्य गरीब मजदूर युवा बेरोजगार का क्या हाल होगा निजी स्कूलों के शिक्षकों के बुरे दिनों से ही आकलन किया जा सकता है इस बार इसी उद्देश्य को लेकर संघ जिला इकाई ने प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जय प्रकाश मिश्रा के निर्देशानुसार शिक्षक दिवस पर शिक्षकों की दयनीय हालत को देखते हुए उनके साथ प्रबंधक संघ बांह पर काली पट्टी बांधकर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के चलते मार्च महीने से स्कूल बंद है ऐसे में प्रबंधकों के सामने शिक्षकों को वेतन देने के लाले पड़े हुए हैं शिक्षक तंगी से जूझ रहे हैं स्कूलों में बच्चों का दाखिला ना होने से प्रबंधक शिक्षक भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं इस हिसाब में केंद्र व राज्य सरकार द्वारा किसी तरह से कोई सहयोग ना देना या इस विषय पर सरकार का गंभीर ना होना निहायत ही चिंता का विषय है ऐसे में शासन प्रशासन को अपनी पीड़ा से अवगत कराने को लेकर वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ आगामी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के दिन बांह पर काली पट्टी बांधकर अपनी पीड़ा को जनमानस से साझा करते हुए सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेगा जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष कन्हैया लाल वर्मा एवं उपाध्यक्ष विजय कुमार पांडे ने संयुक्त रूप से कहा कि आज निजी स्कूलों के प्रबंधक व शिक्षक के सबसे बुरे दिन चल रहे हैं प्रबंधक अपने परिवार रूपी शिक्षकों को परेशानियों के कारण मानदेय देने में विफल साबित हो रहा है ऐसे में शिक्षक भी प्रबंधकों की पीड़ा को समझते हुए इस महामारी की मार को सहने को विवश है उन्होंने कहा कि संघ शिक्षक दिवस पर जहां शिक्षकों का सम्मान होना चाहिए वहां आज हम प्रबंधक साथी उनकी पीड़ा को साझा करते हुए शासन प्रशासन को अपनी समस्याओं से अवगत कराएंगे और उन्हें इस पर गंभीरता से पहल करने की मांग करेंगे संघ के इस निर्णय की एक स्वर में अशोक बैरागी जे एस पी मिश्रा जिला सचिव डॉ आशुतोष प्रसाद शुक्ला विजय कुमार पांडे कन्हैया लाल वर्मा सुशील सिंह धनीराम मोरिया सुभान तिवारी राजीव गुलाटी डीपी गुप्ता अवनीश मिश्रा रोशन शुक्ला सत्यम शुक्ला आदि ने समर्थन करते हुए सांकेतिक विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की बात कही है

Related Posts