राशन कार्ड बनाने मे बड़ा फर्जीवाड़ा आया सामने,फर्जी पाये गये 1,42लाख राशन कार्ड,जाँच में हुआ खुलासा

by vaibhav

गोंडा:- जिले में फर्जी राशन कार्ड बनवाने का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। पूर्ति विभाग के सत्यापन के दौरान लगभग 1.42 लाख राशन कार्ड फर्जी पाये गये हैं। इतने बड़े पैमाने पर राशन कार्ड को फर्जीवाड़ा पकड़े जाने के बाद खाद्यान माफियाओं में हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के मुताविक पूर्ति विभाग द्वारा जाँच में फर्जी पाये गये इन सभी राशन कार्डों को निरस्त कर दिया गया है, साथ ही इन राशन कार्डों पर फीड कराये गये करीब 4 लाख लोगों के नाम हटा दिये गये हैं। बता देँ कि जिले में कुल 4.96 लाख राशनकार्ड धारक हैं। इनमें करीब 65 हजार राशनकार्ड धारक गरीबीरेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोग बताये गये हैं, जबकि 4.31 हजार राशन कार्ड खाद्य सुरक्षा योजना के तहत जारी किये गये हैं। इन सभी को प्रतिमाह सस्ते दर पर राशन की आपूर्ति की जाती है। इसी सस्ते राशन का फायदा उठाकर कालाबाजारी करने वाले खाद्यान माफियाओं ने बड़ी संख्या मे फर्जी राशन कार्ड बनवा लिया और अपनी कमाई का बढ़िया जरिया बना लिया था। इनमे ऐसे लोग भी शामिल बताये जा रहे हैं जो या तो दूसरे प्रदेशों मे रहते हैं या फिर अपना घर छोड़कर दूसरी जगह पर जा चुके हैं। पूर्ति विभाग ने जब राशन कार्डों के सत्यापन की कार्रवाई शुरू की तो बेहद चौंकाने वाली संख्या सामने आई। सत्यापन में करीब 1.42 लाख राशन कार्ड फर्जी पाये गये। फर्जी मिले राशन कार्डों के जरिये करीब 4 लाख लोगों के नाम से गलत तरीके से राशन लिया जा रहा था। अब इन सभी राशन कार्डों को निरस्त कर दिया गया है और सभी 4 लाख नाम पूर्ति विभाग की वेबसाइट से हटा दिये गये हैं। इस कार्रवाई से खाद्यान माफियाओं में बड़ा हड़कंप मचा हुआ है। वहीँ जिला पूर्ति अधिकारी वीरेंद्र कुमार महान का कहना है कि, सत्यापन के दौरान फर्जी मिले 1.42 राशन कार्ड निरस्त किये गये हैं और करीब 4 लाख नाम हटाये गये हैं। इनके स्थान पर 1.74 लाख नये पात्र लोगों को राशन कार्ड जारी किया जा रहा है।

रिपोर्ट राहुल तिवारी

Related Posts