संभल:- संभल के नगर पंचायत गवा झोलाछाप डॉक्टर पुनीत कश्यप बिना किसी डिग्री के क्लीनिक चला रहा था. आप को बता दे मनोज कुमार नाम का व्यक्ति दवाई लेने पहुंचा और इंजेक्शन लगते ही उसकी हालत बिगड़ने लगी. कुछ ही देर मे उसकी मौत हो गई.

परिजनों ने झोलाछाप के क्लीनिक पर हंगामा करना सुरू कर दिया. सूचना मिलते ही नोडल अधिकारी मनोज चौधरी पहुंच गए और झोलाछाप के क्लीनिक को सील कर दिया. बताया जा रहा है कि मनोज उर्फ मनसुख पुत्र धर्मवीर निवासी रेतागढ़ मोलनपुर दवाई लेने के लिए झोलाछाप डॉक्टर पुनीत कश्यप के क्लीनिक पर आया था.

लेकिन मनोज की इलाज के दौरान मौत हो गई वहीं मृतक के परिजनों ने झोलाछाप के क्लीनिक पर हंगामा काट दिया झोलाछाप की लापरवाही से आज एक घर का चिराग बुझ गया l

रिपोर्ट ~ संवाददाता सीताराम कुशवाहा