अवैध कब्जेदारों से श्मशान घाट की जमीन मुक्त कराने नहीं पहुंच रहा प्रशासन

by vaibhav

लखीमपुर-खीरी। संपूर्णानगर थाना क्षेत्र के गोविन्द नगर गांव में श्मशान घाट की जमीन पर गांव के ही दर्जनों लोगों द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर खेती की जा रही है वहीं अन्य ग्राम वासियों को शव का दाह संस्कार करने में अनेक समस्याओं का सामना करना पढ़ रहा है जिसके चलते उन्होंने शासन प्रशासन से श्मशान घाट की भूमि को अवैध कब्जों से मुक्त कराने की मांग कई महीनों से करते चले आ रहे हैं, परंतु अभी तक प्रशासन द्वारा श्मशान घाट की जमीन को अवैध कब्जेदारों से मुक्त नहीं कराया जा सका है

आपको बताते चलें कि सम्पूर्णानगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थित ग्राम सभा गोविंद नगर में श्मशान घाट पर 13 एकड़ से ज्यादा जमीन पर गांव के ही कुछ लोगों द्वारा अवैध कब्जा कर खेती की जा रही है श्मशान घाट की भूमि पर अवैध कब्जे के चलते ग्राम सभा के लोगों को शव के दाह संस्कार में अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

खासकर बरसात के दिनों में इस ग्राम सभा के लोगों को शवों के दाह संस्कार में काफी असुविधा होती है क्योंकि बरसात के समय में चारों तरफ पानी भर जाता है और एक स्थाई जगह ना होने के चलते शवों को दाह संस्कार कराने में चुनौतियां आती हैं ।ग्राम वासियों का आरोप है कि सत्ता पक्ष के कुछ रसूखदारों के दबाव में तहसील प्रशासन श्मशान घाट की भूमि को मुक्त नहीं करवा पा रहा है जबकि हमने इसकी शिकायत तहसील ,जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री तक को पत्राचार के माध्यम से की है लेखपाल कई बार श्मशान घाट की भूमि को नपाई करने आये परंतु अवैध कब्जेदारों की सत्ता पक्ष के रसूखदारों से मिलीभगत के चलते दबाव वस नपाई कभी पूरी नहीं 20 दिन पूर्व लेखपाल और कानूनगो पलिया नपाई करने आए थे परंतु रसूखदार का फोन आते ही अधूरी नपाई कर बाकी नपाई जल्दी ही करने की बात कह कर चले गए तब से अभी तक पुनः नापी करने नहीं आए हैं। श्री कृष्ण यादव, नगीना, मदन सिंह, शशीकांत, मनोज, चंद्रभूषण मिश्रा, गुलाब चंद्र, रविंद्र ,राजेश सिंह ,रामराज, सत्तू लाल आदि ने श्मशान घाट की जमीन को जल्द से जल्द कब्जा मुक्त कराने की मांग की है।

रिपोर्ट -गोविंद कुमार

Related Posts