कानपुर: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया जिसके चलते पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। वहीं कानपुर में भी पुलिस बल सड़को पर उतर कर फ्लैगमार्च कर रही है। वही खुफिया एजेंसी सोशल मीडिया और इटरनेट पर लगातार अपनी निगाहे बनाये हुते है तो शहर में किसी भी तरह के जश्न पर भी रोक लगा दी गई है।


एसएसपी कानपुर प्रीतिंदर सिंह ने पुरे शहर में गस्त बढ़ा दी है। हर चौराहे पर चेकिंग भी शुरू करा दी है। एसएसपी का कहना है की फैसले के बाद पुलिस व्यवस्था एलर्ट है। किसी को भी किसी तरह के कार्यक्रम की अनुमति नहीं है। कही भी इकठ्ठा होने की अनुमति नहीं दी गई है। जिसके चलते कानपुर के अतिसंवेदनशील, संवेदनशील व भीड़ भाड़ वाले इलाकों में पुलिस का रूट मार्च किया जा रहा है। वहीं कानपुर से लखनऊ को जोड़ने वाले रामादेवी चौराहे पर पीएसी की बटालियन को तैनात कर दिया गया है।


आपको बताते चलें कि अयोध्या से जुड़े हर मामलों व फैसलों में कानपुर का बड़ा योगदान रहा है। कई बार धरना प्रदर्शन से लेकर विवादों की परिस्थितियां पूरे देश मे चर्चा का विषय भी बनी रही है। इसलिय कानपुर में अलर्ट के चलते चेकिंग अभियान के तहत बस स्टॉप, रेलवे स्टेशन , नगर के मुख्य मॉल , मार्केट व शराब के ठेको के आसपास पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही है।

रिपोर्ट: कौस्तुभ शंकर मिश्रा