कानपुर। मुख्यमंत्री से चुनाव पूर्व किए गए लोक कल्याण संकल्प पत्र के वादे को पूरा करते हुए अधिवक्ता कल्याण निधि रू 10 लाख करने की मांग को लेकर अधिवक्ता कल्याण संघर्ष समिति के नेतृत्व में आज अधिवक्तागण बार एसोसिएशन गेट से नारे लगाता हुआ जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचे और अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया।

वहां पर संयोजक पं रवीन्द्र शर्मा ने कहा कि हम लोग अधिवक्ता कल्याण निधि को बढ़ाए जाने के लिए वर्षों से संघर्षरत हैं संघर्ष के दौरान विधानसभा चुनाव से पूर्व लोक कल्याण संकल्प पत्र के माध्यम से वादा किया गया था कि सरकार आने पर अधिवक्ता कल्याण निधि की राशि बढ़ाकर 5 लाख करेंगे। समय के साथ कार्यकाल पूरे होने वाला है किंतु अभी तक़ कल्याण निधि राशि जस की तस है। रुपए के अवमूल्यन और बढ़ी महंगाई को देखते हुए हमारी सरकार से मांग है कि अपने लोक कल्याण संकल्प पत्र में किए वादे को निभाते हुए अधिवक्ता कल्याण निधि की राशि रू 125000 को बढ़ाकर 10 लाख किया जाए। अविनाश बाजपेई पूर्व अध्यक्ष लायर्स एसोसिएशन ने कहा कि दासियों वर्षों से हमारी कल्याण निधि बढ़ाने की मांग को वादे के अनुसार हमारे सुरक्षित भविष्य के लिए रु 10 लाख की जाए। इसी मध्य एसडीएम ( न्याय) यशवंत राव ने आकर ज्ञापन प्राप्त कर कहा कि तत्काल आपका ज्ञापन आवश्यक कार्रवाई हेतु मुख्यमंत्री को भेज दिया जाएगा।
इस मौके पर प्रमुख रूप से विजय सागर, शेष बाजपेई, मो कादिर खा, वेद उत्तम, उपेंद्र भदौरिया, विनय मिश्रा, राम जी उपाध्याय, आकांक्षा सक्सेना, राजेन्द्र सिंह, सुरेन्द्र द्विवेदी, आनन्द सेठी, सरदार रौनक सिंह, संजीव कपूर, मोहित शुक्ला, अशोक कुमार, अरविंद कुमार, कुलदीप सक्सेना, स्वदेश मिश्रा, के के यादव, शिवम् अरोड़ा आदि रहे।