कानपुर देहात : आजकल इंटरनेट का ट्रेंड चल रहा है। जिसमें प्रतिदिन कई खबरें वायरल होती रहती हैं। लेकिन ज्यादातर खबरें ऐसी होती हैं जिनकी वास्तविकता को बिना परखे उनको तेजी से वायरल कर दिया जाता है। लेकिन कभी कोई यह नहीं सोचता की वायरल वीडियो या फोटो की सत्यता क्या है।

क्या आरोपी को गिरफ्तार करना था गलत

इन दिनों इंटरनेट पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें उत्तर प्रदेश पुलिस के एक चौकी इंचार्ज पर महिला से अभद्रता का आरोप लगाया जा रहा है। लेकिन शायद ही है किसी ने वीडियो वायरल करने से पहले एक बार उसकी सत्यता पर विचार किया होता। वीडियो संज्ञान में आया तो आला अधिकारियों ने बिना विचार किए शायद चौकी इंचार्ज को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया।

आखिर क्या है वायरल वीडियो के पीछे का राज

उत्तर प्रदेश पुलिस दिन रात एक कर जनता के सुरक्षा में लगी रहती है। चाहे वो ट्रैफिक पुलिस हो या आपके थाने की पुलिस वह हमेशा क्षेत्र के जनता को सुरक्षा प्रदान करती है। जब कोई मामला संज्ञान में आता है, तो पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए भी जाती है। लेकिन एक आरोपी को गिरफ्तार करने जाना चौकी प्रभारी के लिए भारी पड़ गया। उनको फर्ज का निर्वहन करने के दौरान हुई झड़प का खामियाजा लाइन हाजिर हो कर आना पड़ा। मामला कानपुर देहात के भोगनीपुर थाना क्षेत्र के पुखरायां चौकी क्षेत्र के अंतर्गत का बताया जा रहा है। इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें चौकी इंचार्ज पर महिला से अभद्रता करने का आरोप लगाया गया। लेकिन घटनास्थल की वास्तविक हकीकत क्या थी यह किसी ने नहीं जानी और आरोप-प्रत्यारोप का इंटरनेट पर तेजी से प्रसारण होने लगा।

आखिर क्या था मामला

कानपुर देहात पुलिस द्वारा अवगत कराया गया है कि चौकी इंचार्ज गांव में किसी आरोपी की तलाश में गए हुए थे, तभी किसी युवक द्वारा पुलिस के साथ अभद्रता की गई, पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उस युवक को गिरफ्तार कर लिया। लेकिन जब पुलिस ने उस युवक को गिरफ्तार किया तो उसके परिजन पुलिस से भिड़ गए। गिरफ्तार किए गए युवक के परिवार की एक महिला चौकी इंचार्ज आपकी गिरेबान तक पहुंच गई और छीना झपटी करने लगी। इसी दौरान महिला जमीन पर गिर गई और महिला ने चौकी इंचार्ज की गिरेबान पकड़ी थी इस कारण चौकी इंचार्ज भी नीचे गिर गए तभी किसी ने इस संबंध में वीडियो बना लिया जो वायरल हो रहा है। फिलहाल पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चौकी इंचार्ज को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है एवं मामले जांच के लिए क्षेत्र अधिकारी को आदेश दे दिए गए हैं।

क्या प्रशासनिक कर्मचारी की कॉलर पकड़ना है सही

वायरल वीडियो की सत्यता का बिना पता किए इंटरनेट पर वीडियो तेजी से वायरल हो गया जिसके कारण ड्यूटी कर रहे चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया। आखिर अब यहां पर यह सबसे बड़ा सवाल उठता है कि पुलिस करे तो क्या करें ड्यूटी करें तो गलत और ना करें तो गलत। सवाल दोनों तरफ से उठते हैं आखिर अब आप ही बताइए कि पुलिस करे तो करे क्या। क्या कानूनी कार्रवाई में बाधा डालना गलत है या सही इसके बारे में भी सोचिए और निवेदन है कि किसी भी वायरल वीडियो को शेयर करने से पहले उसकी सत्यता अवश्य जान लें।

फिलहाल इस मामले के संबंध में क्षेत्र अधिकारी द्वारा जांच की जा रही है जो तथ्य निकलकर सामने आएंगे उस पर कार्रवाई होगी।