इटावा : चंबल नदी के साथ यमुना के जलस्तर में भी गुरुवार और शुक्रवार को बढ़ोतरी शुरु हो गई जबकि यमुना नदी के पानी से आधा दर्जन गांव प्रभावित हुए हैं हालांकि अभी तक कोई जनहानि की सूचना नहीं है शहर के काली वाहन मंदिर पर झंडेवाला कुंड पानी में डूब गया है और मंदिर परिसर तक पानी पहुंच गया है लेकिन धूमन पुरा गांव के निचले ऊपरी भागों में व काली वाह ग्वालियर मार्ग पर रोड तक पानी भर गया है वही यमुना घाट पर हनुमान मंदिर का घाट पानी में डूब गया है जबकि श्मशान घाट के आसपास भी चारों तरफ पानी ही पानी है

अरहर बाजरा की फसल किसानों की बर्बाद हुई है ग्रामीण भयभीत है हालांकि प्रशासन व्यवस्था करने में जुटा हुआ है देर रात से पानी भरना शुरू हुआ और ग्राम मढ़िया कामेट, भटपुरा, जरहोली मिहोली, रामपुरा आस-पास के गांव में हजारों एकड़ की फसल पानी में डूब गई गांव के बाद सुरक्षित स्थान पर कैंप लगाकर, व शेल्टर होम में राशन पानी आदि की व्यवस्था की जा रही है। यमुना तलहटी स्थिति श्मशान घाट में बाढ़ का पानी आ जाने के कारण अस्थायी रूप से घुमनपुरा में नगर पालिका इटावा द्वारा रेडियो टावर के पीछे अस्थायी श्मशान घाट बनाया गया है। जिला प्रशासन द्वारा सभी से सहयोग की अपेक्षा है।
वहीं प्रशासनिक अधिकारियों व नगर पालिका परिषद इटावा के अधिकारियों के साथ स्थानीय बाशिंदों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का कार्य नाव व जेसीबी मशीनों द्वारा किया जरहा है वहीं एसडीएम सदर सिद्धार्थ वर्मा, चैयरमैन प्रतिनिधि फुरकान अहमद,अधिशासी अधिकारी विनय कुमार मणि त्रिपाठी,सफाई निरीक्षक आंनद कुमार,सफाई नायक मुस्ते हसन,और पालिका कर्मचारीगण मौजूद रहे।



रिपोर्ट : शिवम दुबे