पीएम मोदी के फोन कॉल के इंतजार में हैं आंदोलनकारी किसान: कांग्रेस

नई दिल्ली– कांग्रेस ने कहा है कृषि कानून देश में बड़ा आंदोलन बन कर उभर रहा है और किसान सौ दिनों से इन कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं लेकिन सरकार उनके प्रति असंवेदनशील बनी हुई है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने शनिवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 100 दिन से जारी किसान आंदोलन के दौरान अब तक 255 किसान दम तोड़ चुके हैं लेकिन सरकार उनकी मांगों को लेकर आंख मूंदे है और देश के इन अन्नदाताओं की समस्या को लेकर उसके कानों पर जूं तक नहीं रेंग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि किसानों की समस्या का समाधान सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी पर है। प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद से किसान पीएम मोदी की फोन कॉल का इंतजार करते थक गए है, लेकिन बात तो दूर सरकार उनसे बात करने को भी तैयार नहीं है।

ये भी पढ़ें- किसान आंदोलन: किसान संगठन आज मना रहे हैं ‘काला दिवस’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि किसान समाज का महत्वपूर्ण अंग है और वे अपने भविष्य की चिंता को लेकर सौ दिन से संघर्ष कर रहे हैं इसलिए देश के सभी लोगों को उनका समर्थन करना चाहिए और यह हम सब का नैतिक दायित्व भी होना चाहिए।

इन्पुट- यूनीवार्ता