मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर का लिया जायजा

मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर का लिया जायजा

सिरोही- मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी शिविरों के तहत ग्रामीणों को उनके गांव में ही विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवाएं मिल रही है। शिविर में मिल रही चिकित्सा सेवाओं, जांच, उपचार व निशुल्क दवाईयां पाकर ग्रामीण राहत महसूस कर रही है। सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि राज्य में 14 नवम्बर को शुरू किए गए इस

सिरोही- मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी शिविरों के तहत ग्रामीणों को उनके गांव में ही विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवाएं मिल रही है। शिविर में मिल रही चिकित्सा सेवाओं, जांच, उपचार व निशुल्क दवाईयां पाकर ग्रामीण राहत महसूस कर रही है। सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि राज्य में 14 नवम्बर को शुरू किए गए इस जन स्वास्थ्य कल्याणकारी अभियान के तहत सिरोही जिले में मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिंरजीवी शिविर आयोजित किए जा रहे हैं।
अतिरिक्त निदेशक चिकित्सा प्रशासन डॉ. सुशील परमार ने सिरोही जिले के घरट गांव ब्लॉक पिण्डवाड़ा में आयोजित मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिंरजीवी शिविर का जायजा लिया। साथ ही उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली।
अतिरिक्त निदेशक डॉ. सुशील परमार डॉ. सुशील परमार ने बताया कि इन शिविरों में सभी प्रकार की संचारी, गैर संचारी रोगों सहित सभी बीमारियों की जांच और यथासंभव उपचार किया गया। शिविरों में आने वाले 30 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों का ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर तथा गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच की गई। यहां योग्य दम्पतियों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक किया गया। शिविर में आने वाले ग्रामीणों की जांच भी की गई। साथ ही साथ चिरंजीवी शिविरों में कोविड वैक्सीनेशन भी किया जा रहा है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी शिविरों के दौरान आमजन के लिए ई संजीवनी ऑनलाइन सुविधा के जरिए टेलीमेडिसिन सेवा भी उपलब्ध करवाई जा रही है।उन्होंने बताया किशिविरों में स्कूल जाने वाले बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। शिविरों से पूर्व स्कूलों में स्टाफ द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य की प्री स्क्रीनिंग की जा रही है। प्री स्क्रीनिंग में यदि किसी बच्चे को कोई बीमारी पाई जा रही है तो उन्हें शिविरों में उपचार के लिए भिजवाया जा रहा है। शिविरों में बच्चों के स्वास्थ्य की जांच विशेषज्ञ चिकित्सक कर रहे हैं और आवश्यकता पडने पर उन्हें उपचार के लिए चिरंजीवी योजना/आरबीएसके से संबंद्ध अस्पतालों में रैफर किया जा रहा है। जहां उनका उपचार निशुल्क किया जाएगा।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल

Also Read थाने पहुंचकर व्यक्ति ने गांव के ही युवक पर मारपीट का लगाया आरोप , मामला दर्ज

Follow Us