गर्भ-निरोधक अंतरा इंजेक्शन के लिए एएनएम को दिया प्रशिक्षण

गर्भ-निरोधक अंतरा इंजेक्शन के लिए एएनएम को दिया प्रशिक्षण

सिरोही- दो बच्चों में अंतर के लिए रोज-रोज गर्भनिरोधक उपयोग के बजाय 3 माह में एक बार इन्जेक्टेबल कॉन्ट्रासेप्टिव (अंतरा) इंजेक्शन योग्य दम्पतियों की पसंद बन रहा है। इसके लाभ अधिकाधिक योग्य दम्पत्तियों को दिलाना और सेवा की गुणवत्ता बनाए रखना परिवार कल्याण कार्यक्रम के प्रमख लक्ष्यों में शामिल है। इस सन्दर्भ में अप्रशिक्षित एएनएम

सिरोही- दो बच्चों में अंतर के लिए रोज-रोज गर्भनिरोधक उपयोग के बजाय 3 माह में एक बार इन्जेक्टेबल कॉन्ट्रासेप्टिव (अंतरा) इंजेक्शन योग्य दम्पतियों की पसंद बन रहा है। इसके लाभ अधिकाधिक योग्य दम्पत्तियों को दिलाना और सेवा की गुणवत्ता बनाए रखना परिवार कल्याण कार्यक्रम के प्रमख लक्ष्यों में शामिल है। इस सन्दर्भ में अप्रशिक्षित एएनएम के लिए जिला स्तरीय प्रशिक्षण स्वास्थ्य भवन सभागार में आयोजित किया गया, जिसमें जिला अस्पताल से डॉ. निहाल सिंह (गायनोकॉलोजी) एवं आईपीग्लोबल से डॉ. क्वीना मेहता ने अंतरा इंजेक्शन के प्रशिक्षक रहे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश कुमार ने अंतरा इंजेक्शन लगाने से पूर्व लाभार्थी की उपयुक्तता जांचने से लेकर प्रत्येक डोज के तरीके का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया। उन्होंने अंतरा लगवाने वाली महिलाओं को नियमित फोलो अप करने और 3 माह के अंतराल से बुलाकर अगली डोज देने की बात रखी, उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों को बताया कि अंतराराज के नाम से ऑनलाइन सॉफ्टवेयर भी संचालित है जिसके माध्यम से हर 3 माह से लाभार्थी तो रिमाइंडर मिल जाता है।
उन्होंने ने बताया की परिवार कल्याण कार्यक्रम में क्रन्तिकारी साबित हुए अंतरा एम.पी.ए. इंजेक्शन की सेवाएं अब जिला अस्पताल, सभी सीएचसी, शहरी पीएचसी एवं सब सेंटर पर उपलब्ध हैं। प्रशिक्षण में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. महेश गौतम, डॉ. विवेक कुमार, जिला आईईसी समन्वयक दिलावर खां के साथ स्वास्थ्य कर्मचारी उपस्थिति रहे।

रिपोर्ट : हेमन्त अग्रवाल

Also Read कोर्ट के आदेश के बाद लिखा गया छेड़खानी का मुकदमा , काफी संघर्ष के बाद दर्ज हुई f.i.r.

Follow Us