जिलाधिकारी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोटेदारों एवं नोडल अधिकारियों से राशन वितरण के सम्बन्ध में ली जानकारी

जिलाधिकारी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोटेदारों एवं नोडल अधिकारियों से राशन वितरण के सम्बन्ध में ली जानकारी

कौशाम्बी:- जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा शुक्रवार को एनआईसी में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत पात्रों को निःशुल्क रूप से वितरित किये जा रहे चावल वितरण की कार्रवाई के संबंध में समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा है कि सरकार के द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए कई प्रकार की

कौशाम्बी:- जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा शुक्रवार को एनआईसी में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत पात्रों को निःशुल्क रूप से वितरित किये जा रहे चावल वितरण की कार्रवाई के संबंध में समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा है कि सरकार के द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए कई प्रकार की योजनाओं के माध्यम से उन्हें मदद उपलब्ध करायी जा रही है

उसी के क्रम में गरीब पात्र लोगों को प्रति यूनिट की दर से 05 किग्रा0 निःशुल्क चावल उपलब्ध कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से कोटेदारों को सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि किसी भी स्थिति में पात्रों से न तो चावल के लिए कोई मूल्य लिया जाये और न ही किसी भी प्रकार की घटतौली या कालाबाजारी की शिकायत प्राप्त हो।

Also Read बिहार में प्रेम -विवाह मामलों में लड़कियां निकली लड़कों से आंगे

जिलाधिकारी ने कहा कि चावल का निःशुल्क वितरण किये जाने का निर्देश है। उन्होने कहा कि यदि कहीं से भी घटतौली, कालाबाजारी या मूल्य लेने की शिकायत पायी गयी तो संबंधित कोटेदार के विरूद्ध तो कड़ी कार्रवाई की ही जायेगी साथ ही साथ इस तरह की शिकायत की सूचना नोडल अधिकारी के द्वारा न दिये जाने पर संबंधित नोडल अधिकारी के विरूद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

जिलाधिकारी ने जिलापूर्ति अधिकारी सीमा सिंह को निर्देशित करते हुए कहा कि जिलापूर्ति निरीक्षकों के माध्यम से वितरण की कार्यवाही का निरन्तर अनुश्रवण करते रहें। उन्होने कहा है कि यदि कहीं से भी कालाबाजारी, घटतौली या मूल्य लिये जाने की शिकायत पायी गयी तो संबंधित पूर्ति निरीक्षक के विरूद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी मनोज, जिलापूर्ति अधिकारी श्रीमती सीमा सिंह, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी रवीन्द्र जायसवाल उपस्थित रहे।

  • रिपोर्ट -श्रीकान्त यादव

Follow Us