अदभुद्: एक महिला ने दिया 4 बच्चों को जन्म

अदभुद्: एक महिला ने दिया 4 बच्चों को जन्म

शामली(कैराना) :- जनपद शामली के कैराना क्षेत्र कि एक महिला ने लॉक डाउन के चले जनपद पानीपत के मॉडल टाउन के एक प्राइवेट अस्पताल में चार बच्चों को जन्म दिया है। जच्चा व बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ्य चार बच्चों में तीन लडक़े एक लडक़ी, लडक़ी तीसरे नंबर पर पैदा हुई है। बच्चों के स्वास्थ्य

शामली(कैराना) :- जनपद शामली के कैराना क्षेत्र कि एक महिला ने लॉक डाउन के चले जनपद पानीपत के मॉडल टाउन के एक प्राइवेट अस्पताल में चार बच्चों को जन्म दिया है। जच्चा व बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ्य चार बच्चों में तीन लडक़े एक लडक़ी, लडक़ी तीसरे नंबर पर पैदा हुई है। बच्चों के स्वास्थ्य जन्म लेने से बच्चों के परिजनों व हॉस्पिटल के स्टाफ में खुशी की लहर है.

दरअसल आपको बता दें मामला जनपद शामली के कैराना क्षेत्र के गांव खंदरावली का है। जहां पर कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन लगा हुआ है। वही लॉक डाउन के चलते काजल पत्नी सोनीत नाम की एक महिला ने  4 बच्चों को जन्म दिया है। जो के क्षेत्र में चर्चा का विषय बने हुए हैं। आपको बतादे कि अचानक प्रेग्नेंट काजल के पेट में दर्द हुआ तो परिजनों ने उसे पानीपत के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां करीब एक घंटे के बाद कालेज ने सर्जरी द्वारा चार बच्चों को जन्म दिया। काजल के परिजनों ने सबसे पहले जनपद शामली के निजी हॉस्पिटल में करीब 6 माह पहले अल्ट्रासाउंड कराया था, जिसमें पता चल गया था कि महिला के गर्भ में चार बच्चे हैं। खतरा को भांपते हुए परिजनों ने पानीपत के ही एक निजी अस्पताल में भी अल्ट्रासांउड कराया गया था। वहां भी परिजनों को कालेज के पेट में चार बच्चे होने कि पुष्टि हुई थी। उस दिन से लेकर आज काजल को बैड रेस्ट कराया गया। उसके खाने-पीने का पूरा ख्याल रखा गया। नौवां महीना लगते ही काजल पानीपत में अपनी रिस्तेदारी में आ गया थी। परिजनों ने बताया कि चार दिन पहले वह काजल को लेकर पहले चंडीगढ़ पीजीआई, उसके बाद रोहतक पीजीआई लेकर गए, लेकिन दोनों जगह से डिलीवरी करने से मना कर दिया गया था पानीपत के कई बड़े अस्पताल में भी उन्होंने डिलीवरी के बारे में बातचीत की, लेकिन किसी ने हां नहीं भरी। बाद में पानीपत के ही एक निजी अस्पताल के संचालक ने डिलीवरी करने की हां भरी और आज काजल के साथ साथ चारों बच्चे सुरक्षित हैं। बच्चों का वजन सामान्य व ओर बच्चों से थोड़ा कम हैं। लेकिन खतरे जैसी भी कोई बात नहीं है। आपरेशन के बाद जच्चा व बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं। बच्चों में तीन लडक़े और एक लडक़ी है। साथ चार बच्चे होने पर क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं परिवार के साथ हॉस्पिटल के स्टाफ में भी खुशी की लहर हैं।

Also Read चाचा के इस कुकर्म से खफा होकर भतीजे ने चाचा को मारी गोली

रिपोर्टर:- दीपक कुमार

Follow Us