संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता ने फांसी लगाकर जान दी

संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता ने फांसी लगाकर जान दी

निगोही (शाहजहांपुर)। संपूर्ण देश कोरोना नामक महामारी से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर महिला अपराधों के ग्राफ में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीते रोज क्षेत्र के गांव निवासी एक विवाहिता ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। ससुरालियों ने बिना पुलिस को सूचित किये ही शव को फंदे से उतार लिया।

निगोही (शाहजहांपुर)।  संपूर्ण देश कोरोना नामक महामारी से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर महिला अपराधों के ग्राफ में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीते रोज क्षेत्र के गांव निवासी एक विवाहिता  ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। ससुरालियों ने बिना पुलिस को सूचित किये ही शव को फंदे से उतार लिया। बकौल मृतका के ससुर  उसे लगा की उसकी बहू जिंदा है,उसका शरीर गर्म था इसलिए ही उसने मृतका को फंदे से उतारने में जल्दबाजी की। और डर के कारण पुलिस के आने से पहले ही ससुराली वहां से फरार हो गए।
आपको बताते चलें!  घटना निगोही थाना क्षेत्र के ग्राम मिश्रीपुर की है। अजय सिंह पुत्र सूरजपाल सिंह की शादी मई 2019 को ग्राम आमडार जनपद पीलीभीत निवासी भूरे सिंह की पुत्री शीतल से हुई थी। घटना बुधवार लगभग 4:00 बजे दिन की है।
रिश्तो के संबंध में अगर बात की जाए तो शीतल के मायके वालों ने बताया कि शादी का लगभग एक वर्ष होने को है, और हर तीज त्यौहार या विशेष कार्यक्रमों में अजय और शीतल दोनों साथ साथ ही ससुराल आया करते थे। और कभी यह महसूस नहीं हुआ कि उनके बीच कोई मनमुटाव है। घटना के रोज अजय अपने पिता के साथ स्टेट हाईवे पर पड़ने वाले गांव राघवापुर में एक मिट्टी में शामिल होने गया था। रोज की तरह ही घर में शीतल की सास उसकी जेठानी और बच्चे थे। दोपहर में सभी अपने- अपने कमरे में सो रहे थे। शाम का लगभग 4:00 बज रहा था, तभी अजय ने कमरे का दरवाजा खोल कर देखा दंग रह गया। शीतल फांसी के फंदे पर झूल रही थी। तभी परिजनों ने जिंदा होने की संभावना के चलते पुलिस को बिना सूचना दिए ही शव फांसी के फंदे से उतार लिया और भय के कारण घर से फरार हो गए। घर मे चीख पुकार मच गई। 
किसी ने डायल 112 पर सूचना कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और घटनास्थल को सील कर दिया। दूसरे दिन बृहस्पतिवार लगभग 9:00 बजे मायके वालों के पहुंचने पर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम हेतु जिला मुख्यालय भेज दिया। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है, वही मायके वालों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वह निर्णय करेंगे कि उन्हें क्या कार्यवाही करनी है। और अगर सूत्रों की माने तो बताया जाता है कि शीतल संतान ना होने के चलते अवसाद में थी हो सकता है, इसी के चलते उसने आत्महत्या का कदम उठाया हो।

रिपोर्ट :- उर्वेश सिंह चौहान

Also Read पुलिस के हत्थे चढ़ा अंतर्राज्यीय एटीएम एक्सचेंज गिरोह का एक शातिर आरोपी

Related Posts

Follow Us