हाइड्रोक्सीक्लोरोवीन दवा की बाजार में आई कमी

हाइड्रोक्सीक्लोरोवीन दवा की बाजार में आई कमी

कौशाम्बी : मच्छर जनित बीमारी मलेरिया के लिए बनाई गई दवा हाइड्रोक्सीनक्लोरोक्वीन से आर्थराइटिस (हड्डियों के जोड़ो का दर्द) के साथ साथ रोगप्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) बढ़ाने के लिए डाक्टर की सलाह पर लिया जाता है। लेकिन, जब इस दवा के कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने की चर्चा हुई है, तब से बाजार में

कौशाम्बी : मच्छर जनित बीमारी मलेरिया के लिए बनाई गई दवा हाइड्रोक्सीनक्लोरोक्वीन से आर्थराइटिस (हड्डियों के जोड़ो का दर्द) के साथ साथ रोगप्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) बढ़ाने के लिए डाक्टर की सलाह पर लिया जाता है। लेकिन, जब इस दवा के कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने की चर्चा हुई है, तब से बाजार में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति कम हो गई है। दुनिया मे जब से कोरोना वायरस का संक्रमण के इलाज में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा चर्चा में आई है, तब इस दवा की आपूर्ति मेडिकल स्टोरों में कम हो गई है। चायल के तिल्हापुरमोड़ स्थित जायसवाल मेडिकल स्टोर के संचालक अश्वनी जायसवाल ने बताया कि लाकडाउन के पहले मांग करने पर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट आपूर्ति आई थी। अभी भी स्टॉक में करीब दो सौ टेबलेट उपलब्ध है। इस दवा का साइड इफेक्ट होने से डाक्टर के पर्चे पर ही दवा बेची जाती है। इधर बीच हाइड्रोक्सीक्लोरोवीन दवा की आपूर्ति कम हो गई है। वहीं गठिया रोग से पीड़ित भानुमति सिंह ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर सुगमता से उपलब्ध हो जाती रही है। इधर बीच लाकडाउन के कारण ओपीडी बंद से अस्पताल दवा लेने नही जा सकी है। जबकि 70 वर्षीय बुजुर्ग रामसुख ने बताया कि बीते शनिवार को मेडिकल स्टोर पर फिजिकल डिस्टेंसिंग के कारण उन्हें हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा के लिए ढाई घंटे लाइन में खड़ा होना पड़ा। पैसों की तंगी के कारण 10 टेबलेट ही उन्होंने खरीदी है।

रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

Also Read विभिन्न जगहों से वारंटी एवं शराबी सहित दो गिरफ्तार

Follow Us