पवित्र माह रमज़ान में किया जा रहा है समाजसेवी द्वारा गरीब रोज़ेदारों के सहरी व इफ्तार का इंतजाम

पवित्र माह रमज़ान में किया जा रहा है समाजसेवी द्वारा गरीब रोज़ेदारों के सहरी व इफ्तार का इंतजाम

कैराना(शामली):- लॉक डाउन लगने के बाद गरीब मजदूरों, मजलूमों को खाने-पीने के लाले पड़े हुए हैं। एक और लाॅक डाउन हैं तो दूसरी ओर रमजान का पवित्र महीना। रमजान के महीने में सुबह के समय सेहरी व शाम के समय रोजा इफ्तारी करनी होती हैं। लेकिन प्रतिदिन कमाने वाले लोगों को रोजे में अच्छी खासी

कैराना(शामली):- लॉक डाउन लगने के बाद गरीब मजदूरों, मजलूमों को खाने-पीने के लाले पड़े हुए हैं। एक और लाॅक डाउन हैं तो दूसरी ओर रमजान का पवित्र महीना। रमजान के महीने में सुबह के समय सेहरी व शाम के समय रोजा इफ्तारी करनी होती हैं। लेकिन प्रतिदिन कमाने वाले लोगों को रोजे में अच्छी खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। कैराना नगर की सामाजिक संस्था केयर फॉर ऑल ट्रस्ट के साथ कुछ समाजसेवी ऐसे लोगों के लिए फरिश्तो से कम नहीं हैं। रमजान के पवित्र महीने में लगातार 5 दिन से नौजवान समाजसेवी गरीब बेसहारा व मजलूम लोगों के लिए रात भर खाना बनाने में जुटे रहते हैं। तब जाकर बेसहारा लोगों को पवित्र रमजान में सहरी व रोज़ा इफ्तारी का खाना नसीब हो रहा हैं। रात के समय समाजसेवी युवक स्वयं खाना बनाकर पैकेट तैयार करते हैं और सुबह जब हर कोई गहरी नींद में सोया रहता हैं तो युवक गाड़ियों में खाना लेकर सैंकड़ों गरीब बेसहारा लोगों के दरवाजो पर दस्तक देकर उनको खाने के पैकेट देते हैं। अगर ऐसे लोगों को गरीब बेसहारा मजदूरों के लिए फरिश्ता कहा जाएं तो इसमें कोई दोराय नहीं होगी। केयर फॉर ऑल ट्रस्ट के सचिव इंजीनियर नवाब आलम ने बताया कि दि न्यू हाइट्स एकेडमी के चेयरमैन इमरान सिद्दीकी जो पिछले 12 वर्षों से अमेरिका में रह रहे हैं। उनके नेतृत्व में वें लोग काम कर रहे हैं। खाना वितरण में जो लोग फरिश्ता बने हैं। उनमें प्रमुख समाजसेवी खलील फरीदी, सलीम सैफी, सलीम फरीदी, रफी सिद्दीकी, रहबर व शादाब आदि हैं।

रिपोर्टर:- दीपक कुमार

Also Read ट्रेन से कटकर युवक की मौत , मचा हड़कंप

Related Posts

Follow Us