खाते में आए पैसे लौट जाने के डर से पैसे निकालने बैंक पहुंच रहे ग्राहक

खाते में आए पैसे लौट जाने के डर से पैसे निकालने बैंक पहुंच रहे ग्राहक

कौशाम्बी:- पूरे देश में चल रहे लॉक डाउन व काम काज बंद होने के चलते भारत सरकार गरीबों के खातों में पैसे भेज कर उनकी सहायता कर रही है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत महिलाओं के खुले खातों में 500 रुपए तथा उज्जवला योजना के सभी उपभोक्ताओं को गैस भरवाने के लिए पूरी रकम उनके

कौशाम्बी:- पूरे देश में चल रहे लॉक डाउन व काम काज बंद होने के चलते भारत सरकार गरीबों के खातों में पैसे भेज कर उनकी सहायता कर रही है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत महिलाओं के खुले खातों में 500 रुपए तथा उज्जवला योजना के सभी उपभोक्ताओं को गैस भरवाने के लिए पूरी रकम उनके खातों में भेज कर उनकी सहायता कर रही है।

इसी तरह किसानों के खातों में भी किसान सम्मान निधि की किस्त पहले भेज कर उनकी मदद की जा रही है।किंतु अफवाहों और गलत जानकारियों के चलते कोरोना जैसी घातक महामारी से बचने के लिए ब्रह्मास्त्र बन चुकी सोशल डिस्टेंस को पलीता लग रहा है।हर दिन बैंक खुलने से पहले ही बैंकों में लंबी लंबी कतारें लग जाती है और पैसे निकलवाने वालों की भारी भीड़ जमा हो जाती है।

Also Read संघ लोक सेवा आयोग ( UPSC ) ने उत्तरप्रदेश सरकार से डीजीपी को पद से हटाने पर माँगा जवाब

दरअसल अफवाहों के शिकार हुए इन लोगों को डर है कि अगर इन पैसों को नहीं निकाला गया तो सरकार  द्वारा खातों में भेजी गई यह सहायता राशि वापस हो जाएगी।इसी अफवाह के चलते गैर जरूरतमंद लोग भी इस समय पांच-पांच सौ रुपयों के लिए बैंकों में लाइन लगा रहे हैं।


सिराथू तहसील क्षेत्र के सभी बैंकों में सोमवार पैसे निकलवाने वाले लोगों की भारी भीड़ रही। बैंक ऑफ बड़ौदा दारानगर तथा बड़ौदा यूपी बैंक की शाखा देवीगंज में तो लंबी-लंबी कतारें लगी रही।इस भीड़ व लंबी लंबी कतारों में ज्यादातर उज्जवला के तहत आए 810 रुपए व जनधन के तहत आए ₹500 निकलवाने वाले रहे।

अफवाह के शिकार हुए लोग पैसे लौट जाने अथवा नहीं निकलवाने पर दोबारा नहीं आने के डर से कड़ी धूप व फैली प्राण घातक महामारी के बीच भी भारी संख्या में बैंक पहुंच रहे है और बिना जरूरत के भी पैसा निकलवा रहे है।

  • रिपोर्ट -श्रीकान्त यादव

Follow Us