सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय के काॅलेज आॅफ फार्मेसी ने यूपीयूएमएस सोडियम हाइपोक्लोराइड मिश्रण तैयार किया

सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय के काॅलेज आॅफ फार्मेसी ने यूपीयूएमएस सोडियम हाइपोक्लोराइड मिश्रण तैयार किया

इटावा :- सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय के काॅलेज आॅफ फार्मेसी ने सोडियम हाइपोक्लोराइड का इकोनाॅमिक मिश्रण तैयार किया है, जिसे विश्वविद्यालय ने यूपीयूएमएस सोडियम हाइपोक्लोराइड का नाम दिया है। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 राजकुमार ने दी। उन्होंने बताया कि यह मिश्रण विश्वविद्यालय के अधीन संचालित काॅलेज आॅफ फार्मेसी के संकायाध्यक्ष डा0 देवेन्द्र पाठक

इटावा :- सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय के काॅलेज आॅफ फार्मेसी ने सोडियम हाइपोक्लोराइड का इकोनाॅमिक मिश्रण तैयार किया है, जिसे विश्वविद्यालय ने यूपीयूएमएस सोडियम हाइपोक्लोराइड का नाम दिया है। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 राजकुमार ने दी। उन्होंने बताया कि यह मिश्रण विश्वविद्यालय के अधीन संचालित काॅलेज आॅफ फार्मेसी के संकायाध्यक्ष डा0 देवेन्द्र पाठक तथा फार्मेसी के फैकेल्टी मेम्बरस् ने मिलकर तैयार किया है। इस विचार को प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डा0 रजनीश दूबे ने 13 मई को विश्वविद्यालय में हुए कोविड-19 समीक्षा बैठक में सराहने केे साथ इस इकोनाॅमिक प्रोजेक्ट की डिटेल रिपोर्ट शासन को प्रेषित करने के निर्देश दिये थे ताकि इस बेहतरीन फार्मूले को पूरे प्रदेश में प्राथमिकता के आधार पर लागू किया जा सके। उन्होंने यह भी बताया कि आजकल सोडियम हाइपोक्लोराइड की बहुत क्राइसिस (संकट) चल रही है। यह हास्पिटल तथा अन्य सार्वजनिक जगहों के सेनिटाइजेशन के लिए बेहद जरूरी है तथा यह बेहद महॅगा है।
उन्होंने यह भी बताया कि इस समय देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इसके लिए अस्पताल परिसर तथा अन्य सार्वजनिक जगहों को सैनिटाइज करने के लिए बडे़ पैमाने पर सोडियम हाइपोक्लोराइड की माॅग है। इतनी बड़ी मात्रा में माॅग होने से द्रव्य फार्म में इसकी पूर्ति में दिक्कत आ रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय के फार्मेसी संकाय एवं उनकी टीम ने सोडियम हाइपोक्लोराइड के ठोस फार्म (पाउडर) से मिश्रण तैयार किया है जो मिश्रण बाजार में लगभग 36 रूपये प्रति लीटर मिलता था उसकी कास्ट मात्र 01 रूपये रह गयी है। सोडियम हाइपोक्लोराइड का स्प्रे कोविड-19 से संक्रमित सतहों के सैनेटाइजेशन के लिए किया जाता है और इस मिश्रण को बनाने के दो घंटे अन्दर ही छिड़काव असरदायक होता है। उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले समय में विश्वविद्यालय यदि जरूरी हुआ तो इसे अन्य चिकित्सा संस्थानों, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों तथा सरकारी संस्थानों को सरकारी रेट पर उपलब्ध करायेगा जिससे कि कोविड-19 महामारी से लड़ने में मदद मिलेगी।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 राजकुमार ने काॅलेज आॅफ फार्मेसी द्वारा इतने कम दर पर सोडियम हाइपोक्लोराइड का मिश्रण तैयार करने पर फार्मेसी के संकायाध्यक्ष डा0 देवेन्द्र पाठक तथा अन्य फैकेल्टी मेम्बरस् की तारीफ की और उन्हें निर्देश दिये कि विश्वविद्यालय के अन्दर एवं परिसर में सैनिटाइजेशन हेतु उनके द्वारा निर्मित फ्रेश, असरदायक मिश्रण ही प्रयोग में लाया जायेगा। इस अवसर पर प्रति-कुलपति डा0 रमाकान्त यादव, संकायाध्यक्ष डा0 आलोक कुमार, वित्त नियन्त्रक गुरजीत सिंह कलसी, कुलसचिव सुरेश चन्द्र शर्मा, ओएसडी डा0 शैलेन्द्र कुमार यादव, चिकित्सा अधीक्षक डा0 आदेश कुमार, मीडिया प्रभारी डा0 अमित सिंह आदि उपस्थित रहे। 

Follow Us