गर्मी शुरू होते ही सूख गई नदी,वन्य जीव खतरे में

गर्मी शुरू होते ही सूख गई नदी,वन्य जीव खतरे में

अमौली :- क्षेत्र कि नोन नदी गर्मी शुरू होने से पहले ही सूख चुकी है।जिससे वन्य जीवों के जीवन को खतरा बढ़ गया है।अमौली कस्बे से छह किलोमीटर दूर दक्षिण क्षेत्र में स्थित नोन नदी में गर्मी के शुरुआती समय मई के महीने से ही नदी में शेष रहने वाला पानी इस साल नाम मात्र

अमौली :- क्षेत्र कि नोन नदी गर्मी शुरू होने से पहले ही सूख चुकी है।जिससे वन्य जीवों के जीवन को खतरा बढ़ गया है।अमौली कस्बे से छह किलोमीटर दूर दक्षिण क्षेत्र में स्थित नोन नदी में गर्मी के शुरुआती समय मई के महीने से ही नदी में शेष रहने वाला पानी इस साल नाम मात्र का रह गया है।जिससे नदी के तटवर्ती क्षेत्रों में स्थित जंगलों में मौजूद वन्य जीवों के साथ दूर दराज से प्यास बुझाने के लिए आने वाले जंगली जानवरों के सामने पानी की विकट समस्या पैदा होने के आसार दिखाई देने लगे हैं।यह समस्या आने वाले दिनों में वन्य जीवों की समस्या बढ़ा सकती है।नदी में वन्य जीवों के लिए पानी की मांग आईजीआरएस पोर्टल के माध्यम से क्षेत्रीय ग्रामीणों द्वारा प्रशासन को दे दी गई है। यूं तो इलाके में विभिन्न प्रजातियों के जानवर और वन्य जीव बहुतायत में पाए जाते हैं।जिसमें अधिकतर लोमड़ी,नीलगाय,सियार,लकडबग्घा,खरगोश,मोर आदि पक्षी नदी के तटवर्ती गांवों भरसा, मानेपुर,पत्योरा,कहींजरा, इटरा,सिकंदरपुर,चांदपुर आदि के जंगलों के वन्य जीव नोन नदी के पानी पर ही आश्रित है।ऐसे में नदी में अभी से पानी की किल्लत बढ़ने से वर्षा ऋतु तक वन्य जीवों का हाल क्या होगा?यह सभी के लिये चिंता का विषय है।लेकिन मूक वन्य जीव फरियाद करें तो किससे?

रिपोर्ट :- शुभम भारती

Also Read आयकर अधिकारी के घर में एक साल से अधिक समय से रखा शव , कोमा की आशंका

Follow Us