विकास कार्यों में सेंध लगाकर ग्राम प्रधान भर रहे हैं जेब

विकास कार्यों में सेंध लगाकर ग्राम प्रधान भर रहे हैं जेब

देवा (बाराबंकी) :- इस भीषण संकट के समय जब वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से पूरा देश जूझ रहा है जिसके चलते पूरे देश लॉकडाउन की स्तिथि बनी हुई है।इस भीषण संकट के समय मे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ लोगो के लिये विभिन्न योजनाओ के द्वारा राशन

देवा (बाराबंकी) :- इस भीषण संकट के समय जब वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से पूरा देश जूझ रहा है जिसके चलते पूरे देश लॉकडाउन की स्तिथि बनी हुई है।इस भीषण संकट के समय मे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ लोगो के  लिये विभिन्न योजनाओ के द्वारा राशन व अन्य सुविधाएं निःशुल्क मुहैया करा रहे है तो वही जिलाप्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी दिन रात एक कर लोगो की सेवा में लगे हुये हैं इसी बात का फायदा उठाकर कुछ लोग विकास कार्यो के नाम पर अपनी जेबें भर रहे हैं और सरकार व जिला प्रशासन की छवि धूमिल करने में लगे हुये हैं।  दरअसल पूरा मामला जनपद बाराबंकी के विकासखंड देवा के अंतर्गत ग्राम पंचायत टेरा कला का है।ग्रामीणों के अनुसार ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी द्वारा मिलीभगत कर इंटरलॉकिंग के कार्य में पीली ईंटों की गिट्टी का प्रयोग किया जा रहा है जो कि किसी भी प्रकार मानकों के अनुरूप नही है। ग्रामीण जब इसका विरोध करते हैं तो ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी द्वारा उल्टी-सीधी धमकियां देकर चुप करा दिया जाता है जिसका जीता जागता उदाहरण ग्राम वैसुवा निवासी प्रेम सिंह का है जिसको ग्राम विकास अधिकारी द्वारा चूल्हा- सिलेंडर बिकवा लेने की धमकी दी गई थी जिस पर प्रेम सिंह द्वारा उच्च अधिकारियों से शिकायत कर दी गई शिकायत के उपरांत ग्राम विकास अधिकारी द्वारा शिकायतकर्ता से माफी मांगी गई इसी प्रकार से ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से मनरेगा योजना के तहत बिना काम किए लोगों के खातों में पैसा भेज कर धन उगाही का धंधा जोरों से किया जा रहा है जिसकी निष्पक्ष जांच कराई जानी चाहिए अब देखने वाली बात होगी कि जिम्मेदार अधिकारी कब तक मामले की जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हैं।

  • रिपोर्ट : विकास चौहान

Follow Us