हमेशा कर्मचारियों से अभद्रता करने के मामले में पहचाने जाने वाले खंड विकास अधिकारी एक बार फिर सुर्खियों में नजर आए

हमेशा कर्मचारियों से अभद्रता करने के मामले में पहचाने जाने वाले खंड विकास अधिकारी एक बार फिर सुर्खियों में नजर आए

हसनगंज (उन्नाव) :- विकासखंड हसनगंज में तैनात खंड विकास अधिकारी के एन पाण्डे के द्वारा लगातार कर्मचारियों से अभद्रता व गाली-गलौज करने के विरोध में सभी कर्मचारी एकजुट होकर के उपजिलाधिकारी हसनगंज को मुख्य विकास अधिकारी संबोधित ज्ञापन दिया। विकास खंड हसनगंज के सभी कर्मचारियों के द्वारा यह बताया गया कि कोविड-19 के चलते 24

हसनगंज (उन्नाव) :- विकासखंड हसनगंज में तैनात खंड विकास अधिकारी के एन पाण्डे के द्वारा लगातार कर्मचारियों से अभद्रता व गाली-गलौज करने के विरोध में सभी कर्मचारी एकजुट होकर के उपजिलाधिकारी हसनगंज को मुख्य विकास अधिकारी संबोधित ज्ञापन दिया।  विकास खंड हसनगंज के सभी कर्मचारियों के द्वारा यह बताया गया कि कोविड-19 के चलते 24 मार्च 2020 से लगातार बिना किसी अवकाश के शत-प्रतिशत उपस्थिति देते हुए इस महामारी में एकजुट होकर दिन रात एक करते हुए काम किया गया।

लेकिन उसके बाद भी खंड विकास अधिकारी के एन पांडे के द्वारा आए दिन किसी न किसी कर्मचारी से अभद्रता व गाली-गलौज की जाती  है। कर्मचारियों का गुस्सा तब आसमान को छूता नजर आया  जब सोमवार की सुबह मीटिंग के दौरान तकनीकी सहायकों की बैठक में सभी तकनीकी सहायकों को अभद्र भाषा के साथ चोर लुटेरे तक कह डाला गया जिससे आक्रोशित होकर के तकनीकी सहायक ने एकजुट होते हुए खंड विकास अधिकारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। 

Also Read किसानों की आय बढ़ाने के लिए तकनीकी जरूरी एसडीएम

सोमवार की के ही दिन साय काल में ग्राम पंचायत सचिवो को बैठक के दौरान जातिसूचक शब्दों का प्रयोग , अभद्रता, करते हुए अपमानित किया गया और मुकदमा लिखवा देने की बात कही गई कर्मचारियों का कहना है। कि कर्मचारियों के खिलाफ बिना गलती के वेतन रोकना, एफ आई आर दर्ज कराने, वित्तीय अनिमितताओं में फंसा देना ऐसी धमकी देकर भय का माहौल पैदा करते हैं।  कर्मचारियों ने यह भी आरोप लगाया है कि खंड विकास अधिकारी के एन पांडे के द्वारा आशीष कुमार अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी के साथ अभद्रता की गई।

जिस से आहत होकर आशीष कुमार यादव अवसाद की स्थिति में पहुंच गए एवं चिकित्सीय अवकाश पर चले गए हैं।  विकास खंड में सचिव के पद पर कार्यरत सुशील कुमार का  एक दिन का वेतन बिना किसी सूचना के  काट दिया जबकि सुशील कुमार 24 मार्च से निरंतर बिना अवकाश के ड्यूटी कर रहे हैं।  बीडीओ  के द्वारा हस्ताक्षर होने के बाद भी रजिस्टर में  क्रश लगा कर वेतन रोक दिया जाता है। विकासखंड हसनगंज में ही सचिव पद पर तैनात जैनेंद्र, मृगांग गौतम , प्रशांत शुक्ला,  अमित रावत,  धीरेंद्र रावत संजीव कुमार को जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर अपमानित किया जा चुका है।

विकासखंड में नियुक्त कंप्यूटर ऑपरेटर एवं बीसी,  रोजगार सेवको आदि को भी प्रताड़ित कर पद से हटाने की धमकी खंड विकास अधिकारी के द्वारा दी जाती है। सोमवार के दिन कुलदीप कुमार व रोहित अस्थाना जो कि  रोजगार सेवक पद पर तैनात है। बीडीओ के द्वारा उनसे भी अभद्रता की गई जिसके चलते ग्राम रोजगार सेवक ने सामूहिक  ज्ञापन उपजिलाधिकारी हसनगंज को दिया।

और  खंड विकास अधिकारी को यहां से हटाने की गुहार लगाई है। इस सम्बंध में खण्ड विकास अधिकारी के एन पांडे ने बताया कि ग्राम पंचायत संदाना में चल रही गौशाला में जांच के दौरान पाया गया कि वहां पर टैग किए गए गौवंशो की संख्या लगातार कम होती जा रही है। ऐसा प्रतीत हो रहा है। कि ग्राम प्रधान और सचिव के द्वारा वहां गौ तस्करी की जा रही है। सोमवार के दिन मीटिंग के दौरान मैंने सचिव पर मुकदमा लिखने की बात कही और साथ मे धीरेन्द्र रावत और रमाकांत पांडे के द्वारा अपनी किसी भी ग्राम पंचायत में गौशाला न चलाने की धमकी देने पर मेरे सख्त रवैया की वजह से आज सभी सचिव मेरे विरोध में खड़े हो गए है।

इस सम्बंध में उपजिलाधिकारी प्रदीप वर्मा का कहना है कि ज्ञापन प्राप्त हुआ है मैं पत्र के माध्यम से जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी को पूरे मामले से अवगत करूंगा।

रिपोर्ट :- श्री नरायन शुक्ला

Related Posts

Follow Us