बाँदा में आज से खुले मंदिर के द्वार, भक्तों ने किया भगवान के दर्शन

बाँदा में आज से खुले मंदिर के द्वार, भक्तों ने किया भगवान के दर्शन

बांदा :- समय सुबह सात बजे से शाम सात बजे तकघंटी नहीं बजा सकेंगे श्रद्धालु, पुजारी नहीं बाट सकेंगे प्रसाद। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए भारत में 22 मार्च से बंद चल रहे धार्मिक स्थल 75 दिन बाद सोमवार से फिर खुले। लेकिन मंंदिर के अंदर किसी भी देवी-देवता की प्रतिमा को

बांदा :- समय सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक
घंटी नहीं बजा सकेंगे श्रद्धालु, पुजारी नहीं बाट सकेंगे प्रसाद।


कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए भारत में 22 मार्च से बंद चल रहे धार्मिक स्थल 75 दिन बाद सोमवार से फिर खुले। लेकिन मंंदिर के अंदर किसी भी देवी-देवता की प्रतिमा को स्पर्श करना मना है। न ही मंदिर में लगी घंटी बजा सकेंगे। इसके साथ ही पुजारी भी न तो श्रद्धालुओं को प्रसाद बांटेंगे और न ही टीका लगाएंगे।

Also Read करनैलगंज,तालेपुरवा के पास पलटी रोडवेज बस

एक बार में पांच से अधिक प्रवेश नहीं करेंगे। श्रद्धालु सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक दर्शन कर सकेंगे। अगर किसी में कोरोना जैसे लक्षण दिखेंगे तो उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।, मां काली महेश्वरी देवी संकट मोचन मंदिर एवं वामदेव मंदिर में दर्शन सुबह से पट खोल दिया और नियमों का पालन करते हुए लोगों को दर्शन किया।

रिपोर्ट विद्याभूषण पाण्डेय

Related Posts

Follow Us