सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय में ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा

सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय में ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा

इटावा :-चिकित्सा विश्वविद्यालय, सैफई द्वारा मरीजों की समस्याओं को दृष्टिगत् रखते हुए सेमी इमर्जेंसी सेवा भी शुरू कर दी गयी है। यह सेमी इमर्जेंसी सेवा विश्वविद्यालय द्वारा संचालित की जा रही ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा का ही विस्तार है। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 राजकुमार ने दी। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा ई-ओपीडी के साथ ही ट्रामा, इमर्जेंसी व सेमी इमर्जेंसी सेवाओं में भी तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा हैं ताकि मरीजों को दिक्कत का सामना न करना पडे। सेमी-इमर्जेंसी के अन्र्तगत ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) द्वारा दिये जा रहे चिकित्सकीय परामर्श के साथ ही अब मरीजों को आवश्यकतानुसार शासन द्वारा निर्गत ‘‘सेमी इमजेंसी सेवाओं‘‘ के प्रावधानों के अनुपालन में लैब टेस्ट, चिकित्सकीय जाॅच, भर्ती, आप्रेशन इत्यादि के लिए दिन एवं समय को निर्धारित कर विश्वविद्यालय में बुलाया जाएगा। वर्तमान में ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा 11 विभागों में दी जा रही है जिसे शीघ्र ही विस्तारित कर सुपरस्पेशियलिटी के 08 विभागों को भी सम्मिलित किया जायेगा।ज्ञात हो कि विश्वविद्यालय द्वारा संचालित ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा 18 मई 2020 से शुरू की गयी है। यह ई-ओपीडी सेवा प्रतिदिन सोमवार से शनिवार (सार्वजनिक अवकाश को छोड़कर) प्रातः 08.00 बजे से 04.00 बजे तक संचालित की जा रही है। मरीज विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध कराये गये विभागवार नम्बरों पर वाह्टसएप (Whatsapp) फोन नम्बर द्वारा प्रातः 08.00 बजे से प्रातः 11.00 बजे तक निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। इसके बाद 11.00 बजे से चिकित्सक मरीज को फोन कर उनकी परेशानी सुनकर चिकित्सकीय परामर्श प्रदान करेंगे व परामर्श लिखी ओपीडी स्लिप की फोटो लेकर उसे मरीज के व्हाट्सएप नम्बर पर भेज देंगे। उत्तर प्रदेश समेत देश भर के मरीज ई-ओपीडी का लाभ ले सकेंगे। इस सुविधा के जरिये मरीज चिकित्सकों से सीधे संवाद कर सकेंगे और बीमारी का विस्तृत विवरण देने के साथ ही जाॅच रिपोर्ट को व्हाट्सएप, ई-मेल, विडियो कान्फ्रेन्सिंग सुविधा के माध्यम से भेज सकेंगे।ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) एवं सेमी इमरजेंसी सेवाओं के लिए विभागवार नम्बरक्र.स. विभाग मोबाइल नं001 जनरल सर्जरी (General Surgery) 727525453102 जनरल मेडिसिन (General Medicine) 727525453203 श्वांस रोग (Respiratory/Pulmonary Medicine) 727525453304 बाल रोग (Paediatric) 727525453405 स्त्री एवं प्रसूति रोग (Obs. & Gynae) 727525453506 नाक, कान गला (ENT) 727525453607नेत्र रोग (Ophthalmology) 727525453708 अस्थि रोग (Orthopedics) 727525453809 चर्म रोग (Skin & VD) 727525453910 मानसिक रोग (Psychiatry) 727525454011 दन्त रोग (Dental) 7275254541 प्रतिकुलपति डा0 रमाकान्त यादव ने बताया कि टेलिमेडिसिन ओपीडी के परामर्श के दौरान यदि किसी मरीज को परीक्षण करने/जाॅच करने/आप्रेशन करने/ सेमी इमर्जेंसी की स्थिति प्रतीत होती है तो इसके लिए उसे चिकित्सालय में सेमी इमर्जेंसी के रूप में आने की सलाह दी जायेगी। ऐसे सेमी इमर्जेंसी वाले मरीजों के उपचार हेतु निम्न लिखित प्रक्रिया अपनायी जायेगी। 01 मरीज के चिकित्सालय में आने पर मरीज तथा उसके साथ आ रहे तीमारदारों का कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच का निगेटिव होना आवश्यक है जिसके लिए वह आईसीएमआर से अनुमोदित नजदीकी प्रयोगशाला अथवा राजकीय चिकित्सालय से जाॅच कराकर भी आ सकते हैं। 02. ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) के माध्यम से चिकित्सकों द्वारा चिन्हित मरीजों को सेमी इमरजेंसी के रूप में उपचार करने हेतु मरीज व तीमारदारों के कोविड-19 के जाॅच की स्थिति के अनुसार अस्पताल में आने का समय व स्थान बताया जायेगा। ऐसे मरीजों को एक रजिस्ट्रेशन नम्बर भी दिया जायेगा। 03. वह मरीज व तीमारदार जिनके पास पूर्व में की गयी अथवा नवीनतम कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच रिपोर्ट नहीं है उन सभी को विभागीय सेमी इमरजेंसी ओपीडी में चिकित्सकीय जाॅच, उपचार, भर्ती, आप्रेशन इत्यादि के लिए आने से पहले कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच के लिए विश्वविद्यालय के फ्लू ओपीडी सैम्पल कलेक्शन सेन्टर में सैम्पल देने के लिए बुलाया जायेगा। फ्लू ओपीडी में मरीज अपनी ई-ओपीडी स्लिप की प्रतिलिपि अथवा उसकी फोन में इमेज को दिखाकर आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच करायेंगे। 04. आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच के उपरान्त मरीज कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट, अपनी ई-ओपीडी स्लिप की प्रतिलिपि अथवा उसकी फोन में इमेज को ट्रायज एरिया में रिपोर्ट करना होगा जहाॅ उसे सर्वप्रथम सोशल डिस्टेंसिंग व थर्मल स्कैनिंग इत्यादि का पालन करते हुए देखा जायेगा। इसके उपरान्त उन्हें सम्बन्धित विभाग के सेमी इमरजेंसी ओपीडी कक्ष में जाने हेतु निर्देश दिये जायेंगे जहाॅ पर विशेषज्ञों द्वारा भौतिक परीक्षण किया जायेगा और आवश्यकतानुसार अग्रेतर जाॅच (पैथोलाॅजी, रेडियोलाॅजी इत्यादि) हेतु सन्दर्भित किया जायेगा। 05. सेमी इमरजेंसी वाले किसी मरीज को भर्ती की अथवा किसी प्रोसीजर या आपरेशन की आवश्यकता प्रतीत होती है तो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा निर्गत सुसंगत मार्ग-निर्देश तथा यूनिवर्सल प्रीकासन्श का अनुपालन करते हुए उसका उपचार/प्रोसीजर/आप्रेशन किया जायेगा। रिपोर्ट शिवम दुबे

इटावा :-चिकित्सा विश्वविद्यालय, सैफई द्वारा मरीजों की समस्याओं को दृष्टिगत् रखते हुए सेमी इमर्जेंसी सेवा भी शुरू कर दी गयी है। यह सेमी इमर्जेंसी सेवा विश्वविद्यालय द्वारा संचालित की जा रही ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा का ही विस्तार है। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 राजकुमार ने दी। 

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा ई-ओपीडी के साथ ही ट्रामा, इमर्जेंसी व सेमी इमर्जेंसी सेवाओं में भी तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा हैं ताकि मरीजों को दिक्कत का सामना न करना पडे। सेमी-इमर्जेंसी के अन्र्तगत ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) द्वारा दिये जा रहे चिकित्सकीय परामर्श के साथ ही अब मरीजों को आवश्यकतानुसार शासन द्वारा निर्गत ‘‘सेमी इमजेंसी सेवाओं‘‘ के प्रावधानों के अनुपालन में लैब टेस्ट, चिकित्सकीय जाॅच, भर्ती, आप्रेशन इत्यादि के लिए दिन एवं समय को निर्धारित कर विश्वविद्यालय में बुलाया जाएगा। 

Also Read आयकर अधिकारी के घर में एक साल से अधिक समय से रखा शव , कोमा की आशंका

वर्तमान में ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा 11 विभागों में दी जा रही है जिसे शीघ्र ही विस्तारित कर सुपरस्पेशियलिटी के 08 विभागों को भी सम्मिलित किया जायेगा।
ज्ञात हो कि विश्वविद्यालय द्वारा संचालित ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) सेवा 18 मई 2020 से शुरू की गयी है। यह ई-ओपीडी सेवा प्रतिदिन सोमवार से शनिवार (सार्वजनिक अवकाश को छोड़कर) प्रातः 08.00 बजे से 04.00 बजे तक संचालित की जा रही है।

 मरीज विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध कराये गये विभागवार नम्बरों पर वाह्टसएप (Whatsapp) फोन नम्बर द्वारा प्रातः 08.00 बजे से प्रातः 11.00 बजे तक निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। इसके बाद 11.00 बजे से चिकित्सक मरीज को फोन कर उनकी परेशानी सुनकर चिकित्सकीय परामर्श प्रदान करेंगे व परामर्श लिखी ओपीडी स्लिप की फोटो लेकर उसे मरीज के व्हाट्सएप नम्बर पर भेज देंगे। उत्तर प्रदेश समेत देश भर के मरीज ई-ओपीडी का लाभ ले सकेंगे। 

इस सुविधा के जरिये मरीज चिकित्सकों से सीधे संवाद कर सकेंगे और बीमारी का विस्तृत विवरण देने के साथ ही जाॅच रिपोर्ट को व्हाट्सएप, ई-मेल, विडियो कान्फ्रेन्सिंग सुविधा के माध्यम से भेज सकेंगे।
ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) एवं सेमी इमरजेंसी सेवाओं के लिए विभागवार नम्बर
क्र.स.      विभाग   मोबाइल नं0
01 जनरल सर्जरी (General Surgery) 7275254531
02 जनरल मेडिसिन (General Medicine) 7275254532
03 श्वांस रोग (Respiratory/Pulmonary Medicine) 7275254533
04 बाल रोग (Paediatric) 7275254534
05 स्त्री एवं प्रसूति रोग (Obs. & Gynae) 7275254535
06 नाक, कान गला (ENT) 7275254536
07नेत्र रोग (Ophthalmology) 7275254537
08 अस्थि रोग (Orthopedics) 7275254538
09 चर्म रोग (Skin & VD) 7275254539
10 मानसिक रोग (Psychiatry)  7275254540
11 दन्त रोग (Dental) 7275254541
 
प्रतिकुलपति डा0 रमाकान्त यादव ने बताया कि टेलिमेडिसिन ओपीडी के परामर्श के दौरान यदि किसी मरीज को परीक्षण करने/जाॅच करने/आप्रेशन करने/ सेमी इमर्जेंसी की स्थिति प्रतीत होती है तो इसके लिए उसे चिकित्सालय में सेमी इमर्जेंसी के रूप में आने की सलाह दी जायेगी। ऐसे सेमी इमर्जेंसी वाले मरीजों के उपचार हेतु निम्न लिखित प्रक्रिया अपनायी जायेगी।


01 मरीज के चिकित्सालय में आने पर मरीज तथा उसके साथ आ रहे तीमारदारों का कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच का निगेटिव होना आवश्यक है जिसके लिए वह आईसीएमआर से अनुमोदित नजदीकी प्रयोगशाला अथवा राजकीय चिकित्सालय से जाॅच कराकर भी आ सकते हैं।

02. ई-ओपीडी (टेलिमेडिसिन) के माध्यम से चिकित्सकों द्वारा चिन्हित मरीजों को सेमी इमरजेंसी के रूप में उपचार करने हेतु मरीज व तीमारदारों के कोविड-19 के जाॅच की स्थिति के अनुसार अस्पताल में आने का समय व स्थान बताया जायेगा। ऐसे मरीजों को एक रजिस्ट्रेशन नम्बर भी दिया जायेगा।

03. वह मरीज व तीमारदार जिनके पास पूर्व में की गयी अथवा नवीनतम कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच रिपोर्ट नहीं है उन सभी को विभागीय सेमी इमरजेंसी ओपीडी में चिकित्सकीय जाॅच, उपचार, भर्ती, आप्रेशन इत्यादि के लिए आने से पहले कोविड-19 आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच के लिए विश्वविद्यालय के फ्लू ओपीडी सैम्पल कलेक्शन सेन्टर में सैम्पल देने के लिए बुलाया जायेगा। फ्लू ओपीडी में मरीज अपनी ई-ओपीडी स्लिप की प्रतिलिपि अथवा उसकी फोन में इमेज को दिखाकर  आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच करायेंगे।

04. आर0टी0पी0सी0आर0 जाॅच के उपरान्त मरीज कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट, अपनी ई-ओपीडी स्लिप की प्रतिलिपि अथवा उसकी फोन में इमेज को ट्रायज एरिया में रिपोर्ट करना होगा जहाॅ उसे सर्वप्रथम सोशल डिस्टेंसिंग व थर्मल स्कैनिंग इत्यादि का पालन करते हुए देखा जायेगा। 

इसके उपरान्त उन्हें सम्बन्धित विभाग के सेमी इमरजेंसी ओपीडी कक्ष में जाने हेतु निर्देश दिये जायेंगे जहाॅ पर विशेषज्ञों द्वारा भौतिक परीक्षण किया जायेगा और आवश्यकतानुसार अग्रेतर जाॅच (पैथोलाॅजी, रेडियोलाॅजी इत्यादि) हेतु सन्दर्भित किया जायेगा।


05. सेमी इमरजेंसी वाले किसी मरीज को भर्ती की अथवा किसी प्रोसीजर या आपरेशन की आवश्यकता प्रतीत होती है तो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा निर्गत सुसंगत मार्ग-निर्देश तथा यूनिवर्सल प्रीकासन्श का अनुपालन करते हुए उसका उपचार/प्रोसीजर/आप्रेशन किया जायेगा।

रिपोर्ट शिवम दुबे

Related Posts

Follow Us