दवा लेने गया युवक यमुना नदी में डूवा

दवा लेने गया युवक यमुना नदी में डूवा

इटावा :- ब्लॉक बढ़पुरा ग्राम पंचायत मिहोली की मड़ैया में सुनील पुत्र चतुर सिंह राजपूत 30 वर्ष जब अपने लिए यमुना पार करके दवा लेने चिन्डौली गाँव जा रहा था। तभी वापस आते समय लगभग 11:30 पर यमुना नदी में डूब गया। मृतक के भाई गोविन्द राजपूत ने बताया कि सुनील अपनी दवा लेने यमुना

इटावा :- ब्लॉक बढ़पुरा ग्राम पंचायत मिहोली की मड़ैया में सुनील पुत्र चतुर सिंह राजपूत 30 वर्ष जब अपने लिए यमुना पार करके दवा लेने चिन्डौली गाँव जा रहा था। तभी वापस आते समय लगभग 11:30 पर यमुना नदी में डूब गया।

मृतक के भाई गोविन्द राजपूत ने बताया कि सुनील अपनी दवा लेने यमुना पार चिन्डौली गाँव में दवा लेने सुबह 8 बजे ढोगी (नाव) में बैठकर गया था। वापसी में दवा लेकर लौटा तो बोला तैरकर पार कर लूंगा।

Also Read यमुना एक्सप्रेस वे ट्रक में घुसी बस, दो की मौत।   

ऐसा गाँव के 10 वर्षीय माखन सुनील के परिवार में दाऊ के लड़के से कहाँ दोनों भाई तैरने लगे तो माखन ने बताया कि सुनील डूबने लगे तो मैने कहा भैये साफी (गमछा) पकड़ लो लेकिन जब तक साफी पकड़ पते वो डूब गए थे।

सुनील की उम्र 30 वर्ष थी और उसकी पत्नी रानी व एक 4 साल का बेटा है। दोनों का रो-रो कर बुरा हाल है। सुनील के दूसरे भाई गोविन्द 25 वर्ष के है और तीसरा श्री कृष्ण 18 वर्ष का है। सुनील की माता व पिता चतुर सिंह का भी बुरा हाल है।

गांव के श्याम चौहान ने बताया कि कंधेशी ग्राम पंचायत में सपा सरकार में व यमुना पुल का निर्माण किया गया था लेकिन शासन द्वारा काम बीच में ही रोक दिया गया। आज पुल बना होता तो ये हादसा नही होता।

वही गाँव वालों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि घटना 8:30 की थी।  पुलिस 11 बजे के बाद आई थी और शासन द्वारा कोई गोता खोर भी नही थे। थानाध्यक्ष बढ़पुरा जीवा राम जी ने बताया कि हमें सूचना 11 बजे मिली और हम घटना स्थल पर पहुँच गये।

वही एस० आई० नेम सिंह ने बताया कि चिन्डौली गाँव के लड़के जो की तैराक है। उनको बुला कर शव को धुरवाने का कार्य आते ही शुरू कर दिया। थानाध्यक्ष ने घटना स्थल पर भी गोता खोरों को फोन करने का प्रयास किया लेकिन नेटवर्क नही आ रहा था।

वही ग्राम प्रधान भी घटना स्थल पर मौजूद थे। 4 बजे तक सुनील का शव नही मिला घटना स्थल पर जब पत्रकार टीम पहुँचीं तो वहाँ गाँव वाले जो की शव को डूढ़ कर थक चुके एक तरफ बैठे थे। वही पुलिस एस० आई० नेम सिंह व थानाध्यक्ष बढ़पुरा जीवा राम जी व ग्राम प्रधान दिनेश भदौरिया भी मौजूद थे।

तहसीलदार एन० राम से घटना के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया हमने नेक पल गोपाल जी को मौके पर भेज दिया है और गोता खोरों की मदद से सबको धुरने में लगे हैं लेकिन ग्रामीरों द्वारा कोई भी गोता खोर मोके पर नही था।

रिपोर्ट शिवम दुबे

Follow Us