महिला डिग्री कालेज की पूर्व प्राचार्य डॉ रंजना सराहा का सराहनीय कार्य

महिला डिग्री कालेज की पूर्व प्राचार्य डॉ रंजना सराहा का सराहनीय कार्य

बांदा :- करोना काल मैं सोशलमीडिया के माध्यम से करोना गीत लिख कर और गाकर करोना योद्धाओं को सलामी दी है। राशन का वितरण खिदमत टीम केद्वारा गरीबों में कराया है। मैं अरसठ वर्षीय हूं मेरे दोनो बेटे अमरीका में है। इस उम्र में हमपति पत्नी घर से बारह नही निकल रहे है। मैनै स्वयं

बांदा :- करोना काल मैं सोशलमीडिया के माध्यम से करोना गीत लिख कर और गाकर करोना योद्धाओं को सलामी दी है। राशन का वितरण खिदमत टीम केद्वारा गरीबों में कराया है। मैं अरसठ वर्षीय हूं मेरे दोनो बेटे अमरीका में है। इस उम्र में  हमपति पत्नी घर से बारह नही निकल रहे है।

मैनै स्वयं अपने हाथसे सिलकर मास्क का नि:शुल्क गरीबों में वितरण कराया खिदमत टीम के सलमान बेटे ने मेरा ये कार्यवाही किया है।  खुदा उसे सेहतमंद रखे मेरी रेलिग और दरवाजे पर कमिश्नर आभार के सामने  मास्क टंगे रहे है जिनको आवश्यकता होती है। लेते जाते है. (फोटोग्राफ अटैच है) मेरे पति डा् प्रमोद सैराहा ऐसे कामो में स्वयं रुचि लेते है सहयोग करते है मेरे दोनो बेटे प्राजल सैराहा और प्रकुल सैराहा मेरी हौसला अफजाई करते है।

Also Read महँगा पड़ा सरकारी जमीन की रक्षा में लापरवाही


करोना कोहराम में मैं ये कहानी चाहती हूं कि डाक्टरके दिशा निर्देशों का पूरा पालन करें घर पर रहे बहुत आवश्यकता पढने पर निकले मास्क लगाएं समाजिक दूरी बनाए. बारबार हाथों धोएं. स्वच्छता का पूरा ध्यान रखे।


घर पर रहकर  किसीप्रकार का मानसिक तनाव न रखे अपनी अभिरुचि में मन लगाए व्यायाम.
, योग ध्यान को जीवन शैली में स्थानदें करोना से डरने की नहीं लडने की आवश्यकता है  सभी करोना कर्मवीरों को मेरा नमन उनाम कर्मवीरों में हार्दिक डाकटर नर्स स्वच्छता कर्मी पुलिस, प्रशासन मीडिया कर्मी, अखबार और टिफिन पहुचाने वाले सभी योद्धाओं को साधुवाद प्यार और मुबारक बाद.
बहुत से योद्धाओं  ने अपने जीवन की बलि दी उनको मेरा नमन।


आपकी समाचारपत्र के माध्यम से मैं ये भी कहना चाहती हूं की बेचारे मध्यवर्ग के हमारे बच्चे जिनकी नौकरियां छूट गयी है उनके प्रति भी कुछ नजरेइनायत हो.वे बेचारे संकोचवश किसी से कुछ कह भी  नही सकते।

रिपोर्ट विद्याभूषण पाण्डेय

Follow Us