माँ-बेटी के हत्यारे सगे भांजे को पुलिस ने गिरफ़्तार किया

माँ-बेटी के हत्यारे सगे भांजे को पुलिस ने गिरफ़्तार किया

बाराबंकी :- के थाना सुबेहा में हुई मां-बेटी की हत्या का 36 घण्टे के अन्दर अनावरण कर अभियुक्त की गिरफ्तारी करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है।दिनांक-15.06.2020 को प्रातः लगभग 06.00 बजे ग्राम लोदीपुरव मजरे मरूई थाना सुबेहा के सम्बन्ध में सूचना प्राप्त हुई कि मेराज के घर की छत पर उसकी पत्नी जिन्नतुल उम्र-35

बाराबंकी :- के थाना सुबेहा में हुई मां-बेटी की हत्या का 36 घण्टे के अन्दर अनावरण कर अभियुक्त की गिरफ्तारी करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है।दिनांक-15.06.2020 को प्रातः लगभग 06.00 बजे ग्राम लोदीपुरव मजरे मरूई थाना सुबेहा के सम्बन्ध में सूचना प्राप्त हुई कि मेराज के घर की छत पर उसकी पत्नी जिन्नतुल उम्र-35 वर्ष तथा उसकी पुत्री कुत्सुम उम्र डेढ़ वर्ष का शव पड़ा है और उसकी 07 वर्षीय बेटी तरन्नुम गम्भीर रूप से घायल अवस्था में पड़ी है,

इस सूचना पर प्रभारी निरीक्षक सुबेहा ने तत्परता से कार्यवाही करते हुए घायल तरन्नुम को ट्रामा सेन्टर लखनऊ भेजा और फील्ड यूनिट को बुलाकर मौके पर साक्ष्य संकलन किया। सूचना पर घटना स्थल पर पंहुचे पुलिस अधीक्षक बाराबंकी डॉ0अरविन्द चतुर्वेदी ने घटना स्थल का निरीक्षण कर स्थानीय लोगों से पूछताछ करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी के नेतृत्व में 03 टीमों का गठन किया एवं शीघ्र घटना का अनावरण करते हुए गिरफ्तारी के निर्देश दिये।

Also Read आयकर अधिकारी के घर में एक साल से अधिक समय से रखा शव , कोमा की आशंका

प्रारम्भिक जानकारी के अनुसार मृतका जिन्नतुल का पति मेराज पिछले कई वर्षों से कुवैत में फैक्ट्री में काम कर रहा है और लगभग डेढ़ वर्ष पहले गांव आया था, यह भी जानकारी हुई कि मेराज के 02 अन्य भाई भी कुवैत व सऊदी में काम करते है। तीनों भाइयों के ग्राम मरूई में अलग-अलग पक्के मकान बने हुए है।मृतका की शादी करीब 14 वर्ष पूर्व हुई थी जिसके 02 बेटे अपने नाना के घर रह कर पढ़ते थे। मृतका जिन्नतुल अधिकांशतः अपने मायके भाले के पुरवा मजरे महौना थाना शुक्ल बाजार जनपद अमेठी में रहती थी

और बीच-बीच में अपने घर की देखभाल के लिए मरूई आती थी, इस बार लगभग 20 दिन पूर्व वह मरूई आयी थी।यह भी जानकारी हुई कि दिनांक 14.06.2020 को वह दोपहर में अपनी जेठानी के घर गयी थी और रात में 9.30 बजे अपने घर वापस आयी थी और सबेरे उसका शव छत पर मिला। इस सम्बन्ध में थाना  सुबेहा पर मु0अ0सं0-141/2020 थारा 302/307 भादवि पंजीकृत कराया गया।

विवेचना के दौरान मृतका के ससुराल व मायके पक्ष के समस्त रिश्तेदारियों का सिजरा तैयार कराया गया और उससे संभावित संदिग्ध के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करने के लिए अभिसूचना तन्त्र विकसित किया गया।इस दौरान मृतका के पिता अकबाल हुसैन ने बताया कि उसके दामाद मेराज के बहनोई जामिन का लड़का शफीक अक्सर उनकी बेटी जिन्नतुल(मृतका) से रूपये मांगा करता था,

इस सूचना को और अधिक विकसित करने पर ग्राम मरूई के कुछ जिम्मेदार लोगों ने बताया कि शफीक को घटना वाले दिन दोपहर में जिन्नतुल(मृतका) के घर से निकलते हुए देखा गया था। इस महत्वपूर्ण सूत्र को विकसित करते हुए शफीक उर्फ मिथुन को दिनांक 16.06.2020 को समय 04.10 बजे पर सोनू सिंह का पुराना भट्ठा राजापुर बाजार के पास से पूछताछ के लिए रोका गया।

सख्ती से पूछताछ करने पर शफीक डर गया और उसने बताया कि वह पारा लखनऊ में गारा-मिट्टी का काम करता है और लॉकडाउन के कारण पिछले 03 महीने से बेरोजगार है, उसने बताया कि उसके घर पर उसको सहयोग नही मिलता है। इसलिए वह इधर-उधर घूम कर मांगता खाता है  और गांव के पास के भट्ठे पर रहता है।

अभियुक्त  शफीक ने बताया कि लगभग 02 महीने पहले अपनी मामी जिन्नतुल(मृतका)के पास आया था और 400/-रूपये मांग कर ले गये थे। घटना वाले दिन दोपहर में वह पुनः जिन्नतुल (मृतका) के घर आया और मृतका ने दोपहर अपने घर पर खाना खिलाया था। खाना खाकर निकलते समय उसने फिर से कुछ रूपये मांगे तो जिन्नतुल ने बड़े ही तिरस्कार व अपमान जनक ढंग से उसको अपने घर से भगा लिया

इससे शफीक बहुत अधिक क्रोधित हो गया और बदले की कार्यवाही करने का मन बना लिया। शफीक ने बताया कि मामी के घर से वह निकलकर भट्ठे पर गया और बदले की भावना से उग्र होकर रात्रि लगभग 12 बजे सन्नाटा हो जाने पर मामी के घर के बगल प्लाट के दरवाजे के सहारे छत पर चढ़ा जहां उसकी मामी अपने 02 बच्चों के साथ मसेहरी लगा कर जमीन पर सो रही थी।

शफीक ने स्वीकार किया कि उसने बिना किसी उकसावे के पास में रखी ईंट से मामी के चेहरे व सिर पर 04-05 बार प्रहार किया, इसी बीच छोटी बच्ची कुत्सुम के रोने पर उसके भी सिर पर वार किया और उसे बगल के प्लाट में फेंक दिया और दूसरे बच्ची तरन्नुम के उठ जाने पर पहचान लिए जाने के भय से उसके सिर पर भी वार किया। अभिय़ुक्त ने यह भी स्वीकार किया कि उसने अपनी मामी के साथी उनकी बेहोशी की स्थिति में सम्भोग किया और उसी रास्ते से उतरकर भट्ठे पर चला गया। अभियुक्त के सभी कपड़े कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच हेतु भेज जा रहे है।

36 घण्टे के अन्दर लोमहर्षक हत्याकाण्ड का सफल अनावरण करने वाले प्रभारी निरीक्षक सुबेहा गंगेश शुक्ला व उनकी टीम को 10 हजार रूपये नगद पुरस्कार दिया जायेगा।गिरफ़्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक गंगेश कुमार शुक्ला,व0उ0नि0चन्द्रकान्त,उ0नि0 विपिन कुमार,का0 धर्मेन्द्र यादव,का0 राम सरेख,का0 संजय विश्वकर्मा,का मो0 हारून शामिल रहे।

  • रिपोर्ट- विकास चौहान

Related Posts

Follow Us