महिलाओं को जागरूक करने के लिए चलाया गया अभियान

महिलाओं को जागरूक करने के लिए चलाया गया अभियान

श्रावस्ती :- महिला शक्ति केन्द्र श्रावस्ती की टीम द्वारा महिलाओं एवं किशोरियों के सशक्तीकरण, कोरोना वायरस, बाल विवाह के मुद्दों पर ग्रामीण महिलाओं को जागरूकता अभियान के माध्यम से जानकारी प्रदान की गयी तथा मास्क का वितरण कर उनसे अपील की गई कि मास्क का प्रयोग नियमित करें तथा प्रत्येक घण्टे हाथ को धोयें। इस

श्रावस्ती :- महिला शक्ति केन्द्र श्रावस्ती की टीम द्वारा महिलाओं एवं किशोरियों के सशक्तीकरण, कोरोना वायरस, बाल विवाह के मुद्दों पर ग्रामीण महिलाओं को जागरूकता अभियान के माध्यम से जानकारी प्रदान की गयी तथा मास्क का वितरण कर उनसे अपील की गई कि मास्क का प्रयोग नियमित करें तथा प्रत्येक घण्टे हाथ को धोयें।

इस अवसर पर महिला कल्याण अधिकारी सरिता मिश्रा ने उपस्थित महिलाओं को महिलाओं से सम्बंधित विभिन्न योजनाओं जैसे मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना, वृद्धावस्था पेंशन, दिव्यांग पेंशन, प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दन योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ आदि के बारे में जानकारी दी।

Also Read संदिग्ध परिस्थितियों में मिला युवक का शव मचा हड़कंप

महिलाओं एवं किशोरियों को बाल विवाह से होने वाले दुष्परिणाम के बारे में जानकारी, उनको बताया कि सही उम्र में विवाह करने पर बाल एवं मातृ मृत्युदर/कुपोषण में भी कमी आएगी। उपस्थित लोगों को यह भी बताया जाए कि बाल विवाह की सूचना देने वाले व्यक्ति को 1000 रू0 का इनाम दिया जायेगा तथा उसका नाम गुप्त रखा जायेगा।

यदि किसी के द्वारा बाल विवाह करने की सूचना मिलती है जांच करने पर यदि सत्य पाया जाता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी तथा 02 वर्ष की सजा का प्राविधान है। बाल विवाह की सूचना जिला प्रोबेशन अधिकारी के मोबाइल नम्बर 7518024032 या महिला हेल्पलाइन नम्बर 1090, 112 पर भी दी जा सकती है।

इस अवसर पर जिला समन्वयक कुसुम श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद में बाल विवाह अधिक होने के कारण मातृ/शिशु मृत्युदर अधिक हो रही है तो चिन्ता का विषय है। जनपद में जन्मदर 5 से 6 बच्चे प्रति परिवार है। अधिक संख्या होने से बच्चों के लालन पालन, शिक्षा, स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालता है। आज सभी प्रधानगण यह शपथ लेकर जांए कि अपने गांव में बेटों के साथ बेटियों को विद्यालय जरूर भेजेगें।

  • रिपोर्ट – पंकज मिश्र

Follow Us