टिक-टॉक को नही मिल रहे वकील, मुकुल रोहतगी, सिंघवी सभी कर रहे केस लड़ने से इनकार

टिक-टॉक को नही मिल रहे वकील, मुकुल रोहतगी, सिंघवी सभी कर रहे केस लड़ने से इनकार

उत्तर प्रदेश :- भारत और चीन सीमा पर तनाव और हिंसक झड़प के बाद मोदी सरकार ने टिक टॉक समेत 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन चीनी ऐप पर निजता की सुरक्षा के चलते बैन लगाया गया है। इस पाबंदी के खिलाफ टिक टॉक कंपनी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की योजना

उत्तर प्रदेश :- भारत और चीन सीमा पर तनाव और हिंसक झड़प के बाद मोदी सरकार ने टिक टॉक समेत 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन चीनी ऐप पर निजता की सुरक्षा के चलते बैन लगाया गया है। इस पाबंदी के खिलाफ टिक टॉक कंपनी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की योजना बना रही है, लेकिन उसकी पैरवी करने को कोई तैयार नहीं है।

पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी और सीनियर एडवोकेट और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी सुप्रीम कोर्ट में टिक टॉक की पैरवी करने से साफ इनकार कर दिया है। सीनियर एडवोकेट सिंघवी ने कहा, ‘मैं सुप्रीम कोर्ट में टिक टॉक की पैरवी नहीं करूंगा।

Also Read युवती की ट्रेन से कटकर दर्दनाक मौत

सुप्रीम कोर्ट में एक साल पहले मैंने एक मामले में टिक टॉक का केस लड़ा था और जीता था. हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट में टिक टॉक की पैरवी नहीं करना चाहता हूं।

कांग्रेस नेता सिंघवी से पहले पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट में टिक टॉक की पैरवी करने से इनकार किया था, जिस पर सीनियर एडवोकेट केटीएस तुलसी ने प्रतिक्रिया दी है। तुलसी ने कहा कि यहां पर प्रोफेशनल ड्यूटी और नेशनल ड्यूटी के बीच एक दुविधा की स्थिति है। अगर मैं भी मुकुल रोहतगी की जगह होता, तो यही करता।

रिपोर्ट अमित कुमार श्रीवास्तव

Follow Us