चिलौकि में जिलाधिकारी ने किया आर ओ प्लांट का उद्धघाटन

चिलौकि में जिलाधिकारी ने किया आर ओ प्लांट का उद्धघाटन

मसौली(बाराबंकी)। शुक्रवार को चिलौकी ग्राम पंचायत में पंचायतों के एक आर्थिक स्वाबलंबन युग की तरफ कदम की शुरूआत की गयी। मुख्यमंत्री प्रोत्साहन पुरुस्कार की मिली राशि से ग्राम पंचायत चिलौकी में स्थापित आरओ प्लांट का उदघाटन जिलाधिकारी डॉ0 आदर्श सिंह एव ज्वाइंट मजिस्ट्रेट दिव्यांशु पटेल ने संयुक्त रूप से फीता काटकर एव नारियल फोड़कर किया।

मसौली(बाराबंकी)। शुक्रवार को चिलौकी ग्राम पंचायत में पंचायतों के एक आर्थिक स्वाबलंबन युग की तरफ कदम की शुरूआत की गयी। मुख्यमंत्री प्रोत्साहन पुरुस्कार की मिली राशि से ग्राम पंचायत चिलौकी में स्थापित आरओ प्लांट का उदघाटन जिलाधिकारी डॉ0 आदर्श सिंह एव ज्वाइंट मजिस्ट्रेट दिव्यांशु पटेल ने संयुक्त रूप से फीता काटकर एव नारियल फोड़कर किया। और एनआरएलएम सदस्यों को आरओ प्लांट की जिम्मेदारी सौपते हुए कहा कि ग्रामीणों को जहाँ अब शुद्ध जल मिलेगा वही ग्राम पंचायत की आय बढ़ेगी। उदघाट्न पश्चात जिलाधिकारी डॉ0 आदर्श सिंह ने कहा अशुद्ध जल के सेवन से कई बीमारियां पैदा होती हैं और मानव ऊर्जा की दिशा नकारात्मक होती है दूषित जल पीने से परिवार में किसी एक के भी बीमार पड़ने से पूरे परिवार को परेशान होना पड़ता है। ग्रामीणों को शुद्ध जल मिले जिसके लिए ग्राम पंचायत द्वारा शुरू की गयी पहल काबिलेतारीफ है तथा जिले का पहला प्लांट है। जिलाधिकारी ने आर ओ प्लांट का पानी पीकर गुणवत्ता परखी।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट दिव्यांशु पटेल ने कहा कि
जल ही जीवन होता है। गर्मी के मौसम में ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक जल संकट होता है। वर्तमान समय में भुगर्भ में बदलाव के चलते जल प्रदूषित हो रहा है। इसका सीध असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि चिलौकी गांव के लिए आर ओ प्लांट नजीर बनने से अन्य ग्राम सभा के लोग भी अपने यहां आरओ प्लांट लगाने के लिए प्रेरित होंगे।
विदित हो कि चिलौकी ग्राम पंचायत को गत वर्ष मिले प्रोत्साहन राशि से ग्राम प्रधान सोमनाथ राजपूत ने ग्रामीणों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के साथ साथ पँचायत की आय बढ़ाने के लिए ग्राम पंचायत में आरओ प्लांट की स्थापना की है। आरओ प्लांट के संचालन की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत में बने आधा दर्जन स्वयं सहायता समूह के बालाजी प्रेरणा महिला संगठन को दी गयी हैं।
खण्ड विकास अधिकारी रामेन्द्र सिंह कुशवाह ने कहा कि सामान्यतः ग्राम पंचायतें अपनी आय के लिए केंद्र व राज्य वित्त पर निर्भर होती है। यहां पर ग्राम्य विकास और पंचायती राज विभाग द्वारा ग्राम पंचायत में जो आर ओ प्लांट का निर्माण किया गया है। जो पंचायत की आय का स्रोत तैयार होगा वही दूसरी ओर समूह के सदस्यों को आजीविका का साधन मिलेगा। उन्हीने कहा कि पंचायत को पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बनाने की तरफ जल्द ही यहाँ मनरेगा उद्यान का भी निर्माण कराया जा रहा है जो कुछ समय पश्चात आय के एक स्रोत के रूप में सहयोग मिलेगा ।
इस मौके पर डीसी एनआरएलएम सुनील कुमार तिवारी , एडीओ आईएसबी हनुमान प्रसाद वर्मा, एडीओ पँचायत कृष्ण कुमार सिंह, जेई एमआई आर के प्रकाश, ग्राम प्रधान सोमनाथ राजपूत, पँचायत सचिव मनीष कुमार शुक्ला, विकास पाण्डेय, सतीश वर्मा, आशीष कुमार, बीना चतुर्वेदी, प्रिया श्रीवास्तव, रेनूबाला, गोदराज वर्मा, सतीश कुमार वर्मा, दयानन्द वर्मा सहित स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्य मौजूद थी।

Also Read प्रधानमंत्री मोदी ने बदलकर किया, शहीद के नाम पर चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नाम

Follow Us