अभिभावकों द्वारा विद्यालय प्रबंधन से फीस माफ करने के लिए दिया गया ज्ञापन

अभिभावकों द्वारा विद्यालय प्रबंधन से फीस माफ करने के लिए दिया गया ज्ञापन

रुपईडीहा(बहराईच)।भारत नेपाल सीमा स्थित कस्बा रुपईडीहा के लोगों ने स्कूलों से फीस माफ करने की मांग की है ।कस्बा रुपईडीहा के प्रॉमिस लैंड इंटर कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों ने एक प्रार्थना पत्र के माध्यम से कोरोना महामारी में सीमा सील है व लॉक डाउन की वजह से हुई परेशानियों को अवगत कराते

रुपईडीहा(बहराईच)।भारत नेपाल सीमा स्थित कस्बा रुपईडीहा के लोगों ने स्कूलों से फीस माफ करने की मांग की है ।
कस्बा रुपईडीहा के प्रॉमिस लैंड इंटर कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों ने एक प्रार्थना पत्र के माध्यम से कोरोना महामारी में सीमा सील है व लॉक डाउन की वजह से हुई परेशानियों को अवगत कराते हुए फीस माफी की मांग की है ।
आपको बताते चलें कि विगत के दिनों में 2 स्कूलों ने कोरोना महामारी को देखते हुए लोगों की समस्याओं को समझते हुए फीस माफ कर दिया था ।
सबसे आश्चर्य की बात यह है कि रुपईडीहा के बड़े स्कूल जिनकी फीस सबसे ज्यादा है उन्होंने कोरोना महामारी की वजह से उत्पन्न हुई समस्याओं को अभी तक नहीं समझा और फीस नहीं मांफ की है जिसकी वजह से अभिभावकों के इंतजार का बांध टूट गया और मांग पत्र के जरिए फीस माफी की रिक्वेस्ट की है ।
प्रॉमिस लैंड इंटर कॉलेज के प्रबंधक स्टैनली से फोन पर बात करते हुए बताया कि सरकार की तरफ से कोई ऐसी गाइडलाइन नहीं जारी की गई है की फीस माफ कर दी जाए जब तक सरकार की गाइडलाइन नहीं जारी होगी तब तक फीस नहीं माफ की जा सकती है ।
लोगों को कहना है कि अगर ऐसी ही बात है कि सरकार गाइडलाइन जारी नहीं करेगी तब तक फीस नहीं माफ होगी तो सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है । विद्यालय प्रबंधन की ओर से बताया गया कि यदि किसी अभिभावक को फीस देने में समस्या आ रही है तो वह एक साथ बाकी फीस ना देकर माहवारी के समय किस्तों में फीस जमा कर सकता हैं,क्योंकि प्रबंधन ने बताया कि हमें भी शिक्षकों को तनख्वाह देनी पड़ रही है फीस माफी की मांग करने के लिए आज कस्बे के धर्मेंद्र कौशल क्षेत्र पंचायत सदस्य,पंच राज कुमार गुप्ता, प्रमोद गुप्ता ,नरेंद्र मदेसिया, बसंत चक्रवर्ती, दिलीप कौशल, अब्दुल कलीम, सुशील बंसल, अरविंद गुप्ता, दिलीप गुप्ता,सहित दर्जनों अभिभावकों ने विद्यालय प्रबंधन को प्रार्थना पत्र देकर फीस माफ करने की मांग की।

Related Posts

Follow Us