जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक हुई संपन्न

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक हुई संपन्न

रामपुर। जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न हुई।बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक बेहतर बनाएं जाने एवं डोर टू डोर सर्वे व नियमित मॉनिटरिंग की कार्यवाही को तेज करने सहित विभिन्न विषयों पर विस्तार पूर्वक समीक्षा की तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों

रामपुर। जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न हुई।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक बेहतर बनाएं जाने एवं डोर टू डोर सर्वे व नियमित मॉनिटरिंग की कार्यवाही को तेज करने सहित विभिन्न विषयों पर विस्तार पूर्वक समीक्षा की तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।

उन्होंने कहा कि जनपद में ऐसी दुकाने जहां गुटका एवं तंबाकू का विक्रय किया जाता है वहां नियमानुसार धूम्रपान के दुष्प्रभाव से संबंधित चेतावनी बोर्ड लगा होना अनिवार्य है इसलिए अधिकारी विशेष अभियान चलाकर जनपद की ऐसी दुकान के विरुद्ध कार्यवाही करें जहां चेतावनी बोर्ड नहीं लगाया गया है।
आशाओं के भुगतान के संबंध में बेहतर प्रगति न होने पर जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य स्वास्थ्य विभाग के संबंधित अधिकारी गण ऐसी व्यवस्था बनाए जिसमें आशाओं को मिलने वाली धनराशि का समय से भुगतान होना चाहिए साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि बेहतर कार्य करने वाली आशाओं को प्रोत्साहित किया जाए तथा लापरवाही बरतने वाली आशाओं के विरुद्ध कार्यवाही भी होनी चाहिए।

Also Read बिजली चोरी मामले में दो सगे भाइयों के विरुद्ध थाना में प्राथमिकी दर्ज

कोरोनावायरस के संक्रमण के दृष्टिगत जनपद में सैम्पलिंग एवं डाटा फीडिंग सहित विभिन्न बिंदुओं की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि डाटा फीडिंग में किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होनी चाहिए।
संस्थागत प्रसव के संबंध में महिलाओं को मिलने वाली धनराशि के भुगतान के बारे में उन्होंने कहा कि सभी स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी इसके प्रति गंभीर रवैया अपनाएं तथा नियमानुसार निर्धारित समय अवधि के भीतर ही महिलाओं के खातों में धनराशि का हस्तांतरण हो जाना चाहिए इसके अलावा उन्होंने कहा कि जनपद में चिन्हित टीबी रोगियों की भी नियमित रूप से मानिटरिंग होनी चाहिए तथा अन्य रोगियों के चिन्हीकरण के लिए जिला क्षय रोग अधिकारी अपनी टीम को लगातार सक्रिय बनाए रखें। संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिए  विशेष सतर्कता  बनाए रखने के लिए उन्होंने  मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया तथा कहा कि  सभी जरूरी  दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता के साथ ही  नियमित  रूप से  सैनेटाइजेशन सहित अन्य जरूरी  सावधानियां  बरती जाए। मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती गजल भारद्वाज ने कहा कि आशाओं को यह जिम्मेदारी सौंपे कि वे गर्भवती महिलाओं के आधार कार्ड एवं खाता खोलने संबंधी सभी कार्यवाहियों में उनको सहयोग प्रदान करें इसके लिए सभी स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी व खंड विकास अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी गण महीने में एक दिन निर्धारित करें जिस दिन बैठक करके आशाओं एवं अन्य ग्रामीण स्तर पर कार्यरत कार्मिकों की समस्याओं का निराकरण कराएं ताकि जमीनी स्तर पर योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन हो सके तथा शासन की मंशा के अनुरूप आमजन को पात्रता के आधार पर लाभान्वित किया जा सके।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुबोध कुमार शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक महिला चिकित्सालय शशि गुप्ता, जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेश कुमार,  जिला पंचायत राज अधिकारी वीरेंद्र सिंह सहित अन्य अधिकारी गण मौजूद रहे।

  • रिपोर्ट -:- गौरव जैन

Follow Us