जिलाधिकारी की अध्यक्षता में मत्स्य सम्पदा योजना की जिलास्तरीय बैठक संपन्न

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में मत्स्य सम्पदा योजना की जिलास्तरीय बैठक संपन्न

श्रावस्ती: प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की जिला स्तरीय समिति की बैठक जिलाधिकारी टी0के0शिबु के अध्यक्षता मे कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई । बैठक में विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन प्राप्त विभागीय समस्त योजनाओं के प्रार्थना पत्र स्वीकृत किए जाने थे ।मत्स्य विभाग में आवेदन की तिथि 10 अगस्त 2020 तक विभिन्न परियोजनाओं के लिए कुल 29

श्रावस्ती: प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की जिला स्तरीय समिति की बैठक जिलाधिकारी टी0के0शिबु के अध्यक्षता मे कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई । बैठक में विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन प्राप्त विभागीय समस्त योजनाओं के प्रार्थना पत्र स्वीकृत किए जाने थे ।मत्स्य विभाग में आवेदन की तिथि 10 अगस्त 2020 तक विभिन्न परियोजनाओं के लिए कुल 29 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए जिनमें से 11 विभागो द्वारा मंडल स्तर पर अग्रसारित किया गया तथा मंडल द्वारा उनका अनुमोदन कर दिया गया उन आवेदन पत्रों में से तीन आवेदन को सहायक निदेशक मत्स्य द्वारा निरस्त कर दिया गया ।

 जिलाधिकारी ने सहायक निदेशक मत्स्य को निर्देश दिया है कि उक्त सभी आवेदन पत्रों का पूर्ण विवरण यथा आवेदन की तिथि निरस्त या अग्रसारित करने की तिथि एवं अनुमोदन की तिथि सहित पूरा विवरण प्रस्तुत किया जाए एवं साथ में योजना वार शासनादेश अनुसार चेक लिस्ट एवं उनकी पूर्ति भी अंकित की जाए ।

Also Read हादसे से दहली राजधानी, 9 की मौत

जिलाधिकारी ने मत्स्य विभाग द्वारा पूर्व के वर्ष मैं कराए गए कार्यों का सत्यापन किए जाने का निर्देश दिया उन्होंने इसके लिए तहसीलदार नायब तहसीलदार एवं लोक निर्माण विभाग आर ई डी अथवा लघु सिंचाई के सहायक अभियंता के साथ कमेटी बनाकर जांच की जाए।

 विगत वर्ष नील क्रांति योजना के अंतर्गत 3 लाभार्थियों के लिए धनराज का आवंटन शासन से हो गया था परंतु उनके द्वारा इस वर्ष की मत्स्य संपदा योजना योजना के अंतर्गत आवेदन किया गया है जिस कारण उनके आवेदनों को कमेटी द्वारा निरस्त किया गया है।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रदेश सरकार मत्स्य पालकों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबंध है इसलिए सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं से उन्हें आच्छादित किया जाए और यह भी ध्यान रखा जाए कोई भी मत्स्य पालन के लिए इच्छुक व्यक्ति सरकार की योजनाओं से वंचित न रहने पाए इसका संबंधित विभाग व्यापक रूप से ध्यान रखें।

अंकुर मिश्र श्रावस्ती

Follow Us