मिशन शक्ति कार्यक्रम का सुभारम्भ सांसद बहराईच द्वारा किया गया

मिशन शक्ति कार्यक्रम का सुभारम्भ सांसद बहराईच द्वारा किया गया

रुपईडीहा(बहराईच)। थाना रुपईडीहा के प्रांगड़ में आज मिशन शक्ति कार्यक्रम की शुरुआत सांसद बहराईच अक्षयवर लाल गौड़ ने फीता काट कर किया एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता भी की।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सशस्त्र सीमा बल 42वी वाहिनी के कमाण्डेन्ट प्रवीण कुमार ने कहा कि आज के कार्यक्रम का उद्देश्य महिला शशक्तिकरण है जिससे महिलाओं को

रुपईडीहा(बहराईच)। थाना रुपईडीहा के प्रांगड़ में आज मिशन शक्ति कार्यक्रम की शुरुआत सांसद बहराईच अक्षयवर लाल गौड़ ने फीता काट कर किया एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता भी की।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सशस्त्र सीमा बल 42वी वाहिनी के कमाण्डेन्ट प्रवीण कुमार ने कहा कि आज के कार्यक्रम का उद्देश्य महिला शशक्तिकरण है जिससे महिलाओं को आत्म निर्भर बनने की प्रेरणा मिलती है आज सैकड़ों महिलाये शशस्त्र सीमा बल में कार्यरत है जो देश की विभिन्न सीमाओं की शुरक्षा का सफल निर्वाहन कर रही है। माहिलाओ में पूर्व की अपेक्षा अधिक जागरूकता बढ़ गई है।सरकार के सभी विभागों में आज महिलाये कार्यरत है।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार ने मिशन शक्ति कार्यक्रम की उपयोगिता बताते हुए कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं के आत्म निर्भर बनने व शुरक्षा प्रदान करने के लिए कई प्रकार की हेल्पलाइन नम्बरो की शुरूआत की है जिसमे उमेन पॉवर लाइन 1090, महिला हेल्पलाइन 1081, मुख्यमंत्री हेल्प लाइन 1076, आपातकालीन सेवा 112, चाइल्ड लाइन 1098 है जिससे महिलाओं में आत्मनिर्भरता बढ़ सके समाज मे वे सम्मान के साथ रह सके यदि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी महसूस होती है तो वह उपरोक्त में से किसी भी हेल्पलाइन नंबरों पर अपनी समस्या बता सकती है जहाँ उन्हें उस समस्या का त्वरित हल मिल जाएगा। पुलिस क्षेत्राधिकारी नानपारा जंग बहादुर यादव ने बताया कि महिलाओं में पहले की अपेक्षा अधिक जागरूकता बढ़ गई हैं अब महिलाये भी पुरुषों की तरह कंधे से कंधा मिलाकर सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही है।चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो स्वास्थ्य का अथवा शुरक्षा का क्षेत्र सभी क्षेत्रों में महिलायें पुरुषों के साथ आगे बढ़ रही है।अपने संबोधन में सांसद बहराईच अक्षयवर लाल गौड़ ने कहा कि भारत पुरातन संस्क़ृति का देश है जहाँ महिलाओं का आज से नही आदि काल सम्मान किया जाता रहा है।हमारे सांस्कृतिक व धार्मिक ग्रंथों में भी पुरुषों से पूर्व महिलाओं, देवीयों का नाम लेना वर्णित है जैसे सीता राम राधेकृष्ण व अर्ध नारीश्वर के रूप में भगवान शंकर व पार्वती को जाना जाता है हमारे यह पुरातन काल से ही माँ शारदे, माँ लक्ष्मी,माँ दुर्गा आदि देवियों की पूजा अर्चना होती आ रही है।हमारे आज के समाज मे जो विकृति आई है इसमें मोबाईल एक बड़ा कारण है मोबाईल के जरिये अपरिचित लोग भी संपर्क में आते है और तमाम ऐसी समाज विरोधी घटनाये घटित होती है। इस दौर में अभिभावकों को भी सतर्क रहने की जरूरत है अभ्या कांड व हाथरस कांड के बाद हमे अपने बच्चों और उनके क्रियाकलापो पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है।

Also Read मुजफ्फरनगर में ब्यक्ति के पेट से निकली रसोई सामग्री, डॉक्टर समेत सभी हैरान

सांसद ने प्रशस्ति पत्र देकर आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री उषा देवी,लक्ष्मी शाही सोनी , सीमा देवी, मुख्य सेविका दयावती महिला आरक्षी प्रिया कुमारी, दीपिका बेन महिला पुलिस आरक्षी प्रियन्का, राधा मिश्रा को सम्मानित किया। कार्यक्रम में एस एस बी की महिला आरक्षी प्रिया कुमारी ने महिला सशक्तीकरण पर आधारित एक गीत प्रस्तुत किया जिसे लोगों ने बहुत सराहा।कार्यक्रम में मंच का सफल संचालन डॉ0 सनत कुमार शर्मा ने कहा एक नहीं दो दो मात्राएँ, नर से बढ़कर नारी। रुपईडीहा के प्रामिस लैंड इंटर कालेज, प्रवीण गर्ल्स जू0 हा0 स्कूल की छात्राएं व एस एस बी व पुलिस की महिला आरक्षी सहित दर्जनों महिलाये उपस्थित थीं। कार्यक्रम में एस एस बी के सहायक कमांडेंट एल के गरवा, प्रभारी निरीक्षक थाना रुपईडीहा प्रमोद कुमार सिंह,निरीक्षक क्राइम अमित कुमार,भाजपा जिला कार्यकारिणी सदस्य रमेश अमलानी सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।

रिपोर्ट – रईस

Related Posts

Follow Us