गोकुलपुर निवासियों को नही मिला पी एम आवास का लाभ

गोकुलपुर निवासियों को नही मिला पी एम आवास का लाभ

रुपईडीहा। ब्लॉक नवाबगंज की गांव सभा गोकुलपुर निवासियों के तमाम गरीबों को पी एम आवास ही नही मिला।इस गांव में पहुंचने पर मालूम हुआ की गांव के प्रधान जिमीदारीन हैं।जो अंगूठा छाप निरकक्षर हैं कई गांव सभाओ का काम देख रहे ग्रामविकास अधिकारी अर्जुन हैं।गांव में हुए विकास कार्य सभी ठेके पर कराए गए।बीडीओ एडीओ

रुपईडीहा। ब्लॉक नवाबगंज की गांव सभा गोकुलपुर निवासियों के तमाम गरीबों को पी एम आवास ही नही मिला।इस गांव में पहुंचने पर मालूम हुआ की गांव के प्रधान जिमीदारीन हैं।जो अंगूठा छाप निरकक्षर हैं कई गांव सभाओ का काम देख रहे ग्रामविकास अधिकारी अर्जुन हैं।गांव में हुए विकास कार्य सभी ठेके पर कराए गए।बीडीओ एडीओ पंचायत व ग्रामपंचायत अधिकारी की मिलीभगत से सारा काम ठेके पर हुआ । गांव वालों ने ये भी बताया कि जीमीदारिन के पति कोइली की मौत हो चुकी है गांव में आवासों का कहीं पता नही चला गांव के बाहर लगभग 40 शाल से मिट्टी की कच्ची दिवालो पर प्लास्टिक की पन्नी व जर्जर टीन रखकर गुजारा करने वाले इन विकास करने वाले अधिकारियों व क्षेत्रीय नेताओ की कृपा नही हुई ।

नही तो ये परिवार पी एम आवास की योजना से महरूम न हो जाता।इन घरों में रहने वाले पिन्टू पुत्र रामदेव ,कमलेश पुत्र आशाराम ,चहंगू,जगत व रामदेव ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि गांव की प्रधान को कुछ मालूम ही नही है।वह दिनभर मवेशी चराती रहती हैं।सारा काम ग्रामपंचायत अधिकारी व बाबागंज का एक ठेकेदार देखता है।इन लोगो ने बताया कि कई बार ग्रामपंचायत अधिकारी अर्जुन से हम लोगो ने मिन्नते की परंतु हमे पी एम आवास नही मिला।मजबूरन हम लोग मजदूरी कर कच्ची मिट्टी की दीवारों पर पन्नियां तान कर सर्दी ,गर्मी व बरसात में गुजारा कर रहें हैं। कच्चे घर के सामने खड़ी रेनू, मेनका ,मीना व माधुरी आदि ने बताया कि 35,40 सालों से किसी भी सरकार ने हमे कोई सहायता नही दी।इन लोगो ने आवास बनवाने की मांग संबंधित अधिकारियों से की है।

Also Read पुलिस और गौ तस्करों के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस ने कसा शिकंजा

रिपोर्ट -रईस

Related Posts

Follow Us