लखनऊ में हुये हत्या के बाद दहशत में विधायक का परिवार

लखनऊ में हुये हत्या के बाद दहशत में विधायक का परिवार

आजमगढ़ :- प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीती रात मुहम्मदाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख की अजीत सिंह की हत्या के बाद आजमगढ़ जिले में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड के गवाह भयभीत हो गये है। मृतक पूर्व विधायक के परिजन और गवाह पुलिस अधिकारियों से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगाई है। बतातें चलें कि

आजमगढ़ :- प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीती रात मुहम्मदाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख की अजीत सिंह की हत्या के बाद आजमगढ़ जिले में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड के गवाह भयभीत हो गये है। मृतक पूर्व विधायक के परिजन और गवाह पुलिस अधिकारियों से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगाई है।


बतातें चलें कि जुलाई 2013 में सगड़ी के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की हत्या कर दी गयी थी। पूर्व विधायक की हत्या के बाद हुई हिंसा और लोगों के आक्रोश को देखते हुए तत्कालिन सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश कर दिया था। इस हत्याकांड में जीयनपुर कोतवाली के छपरा सुल्तानपुर गांव निवासी माफिया धु्रव सिंह उर्फ कुंटू सिंह सहित उसके सहयोगी जेल में बंद है। पूर्व विधायक की हत्या की प्रतिदिन सुनवाई हो रही है। अभी तक पूर्व विधायक की हत्या में केवल उनके भाई संतोष सिंह टीपू की गवाही हो सकी है। जबकि दूसरा सबसे मजबूत गवाह पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह थे, जिनकी इसी सप्ताह कोर्ट में गवाही थी। लेकिन उससे पहले उनकी हत्या कर दी गयी। अजीत सिंह की हत्या के बाद जहां पूर्व विधायक का परिवार सदमें में है, वही गवाह भयभीत हो गये है। गुरूवार को पूर्व विधायक के भाई संतोष सिंह टीपू ने पुलिस अधीक्षक से मिलकर सुरक्षा की मांग की है। संतोष सिंह टीपू ने कहा कि पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह उनके भाई सर्वेश सिंह की हत्या में बतौर गवाह थे। जिसके लिए धु्रव सिंह उर्फ कुंटू सिंह गवाही न देने के लिए दबाव बना रहे थे। इसी के चलते कुंटू सिंह ने अजीत की हत्या करा दिया। जिससे अब वे और उनके परिजन दहशत में है।

वही पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि पूर्व विधायक सर्वेश सिंह के भाई संतोष सिंह टीपू गुरूवार को कैम्प कार्यालय में आकर मुलाकात की है। पूर्व विधायक सीपू सिंह की हत्या में अजीत सिंह मुख्य गवाह थे। उनकी हत्या के सम्बन्ध में बातचीत किये है। पूर्व विधायक के परिजवार और अन्य लोगों सुरक्षा पहले से ही दी गयी है। अगर किसी को अन्य को या और सुरक्षा चाहिए तो उसे दी जायेगी।

Related Posts

Follow Us