सिपाही की पिटाई से सब्जी विक्रेता की मौत , आक्रोशित नागरिकों ने लगाया जाम

सिपाही की पिटाई से सब्जी विक्रेता की मौत , आक्रोशित नागरिकों ने लगाया जाम

बांगरमऊ(उन्नाव)। लॉकडाउन में एक सब्जी विक्रेता को सब्जी बेचना इतना महंगा पड़ गया कि उसे लॉकडाउन में सब्जी बेचने की भरपाई अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। आपको बता दें कि बांगरमऊ में आज आक्रोशित भीड़ ने हाईवे जाम कर दिया जब आक्रोशित भीड़ से हाइवे जाम करने का कारण पूछा तो सभी के पैरों तले

बांगरमऊ(उन्नाव)। लॉकडाउन में एक सब्जी विक्रेता को सब्जी बेचना इतना महंगा पड़ गया कि उसे लॉकडाउन में सब्जी बेचने की भरपाई अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। आपको बता दें कि बांगरमऊ में आज आक्रोशित भीड़ ने हाईवे जाम कर दिया जब आक्रोशित भीड़ से हाइवे जाम करने का कारण पूछा तो सभी के पैरों तले जमीन खिसक गई। भीड़ ने हाईवे जाम क्यों किया इसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे। और उत्तर प्रदेश की बांगरमऊ पुलिस का शर्मनाक चेहरा भी सामने आया जब हाईवे को जाम किए हुए लोगों ने हाइवे जाम करने का कारण बताया।

पुलिस कस्टडी में कैसे हुई सब्जी विक्रेता की मौत…….?

मामला उत्तर प्रदेश के उन्नाव जनपद के बांगरमऊ का है जहां पर बांगरमऊ के मोहल्ला भटपुरी में एक युवक अपने घर के बाहर सब्जी बेच रहा था। तभी  एक सिपाही उसे लॉकडाउन उल्लंघन में पीटते हुए थाने ले गया । जहां किशोर की मौत हो गई । किशोर की मौत से आक्रोशित परिजनों एवं नागरिकों ने लखनऊ मार्ग चौराहे पर जाम लगा दिया । समाचार लिखे जाने तक पुलिस परिजनों एवं आक्रोशित नागरिकों को समझाने बुझाने का प्रयास कर रही थी ।

Also Read बिना ड्राइवर अचानक चल पड़ी मालगाड़ी, 70 किलोमीटर तक दौड़ी, और फिर जो हुआ

मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि
बांगरमऊ नगर के मोहल्ला भटपुरी निवासी इस्लाम का 17 वर्षीय पुत्र फैसल घर के बाहर सब्जी बेचता है । आज दोपहर नगर पुलिस  चौकी का  एक सिपाही और होमगार्ड  मौके पर जा धमके और लॉक डाउन के उल्लंघन का आरोप लगाकर  सब्जी बेच रहे फैसल को डंडे से पीटने लगे । मामला यही नही शांत हुआ ।

सिपाही और होमगार्ड फैसल की पिटाई करते हुए लखनऊ चौराहे  ले गए। यहाँ उसे जीप  में डाल लिया और  पिटाई करते हुए कोतवाली ले गए । खबर पाकर परिजन भी कोतवाली पहुँच गए । पुलिस ने कोतवाली में  परिजनों के सामने भी फैसल की पिटाई की । जिससे उसकी हालत बिगड़ गई ।

यह देख पुलिस के हाथ पैर फूल गए।  आनन-फानन  परिजन और पुलिस  उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई । जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया । पुलिस की पिटाई से फैसल की मौत की खबर  जंगल में आग की तरह फैल गई । देखते ही देखते सैकड़ो  नागरिक सामुदायिक स्वास्थ केंद्र पहुंच गए । जहां जाम लगाने का प्रयास किया । पुलिस के समझाने बुझाने के बाद  नागरिक तिकोनिया पार्क के सामने एकत्रित हो गए । पुलिस ने यहां भी समझाया बुझाया तो आक्रोशित  नागरिकों ने लखनऊ मार्ग चौराहे पर जाम लगा दिया ।

नागरिक आरोपित सिपाही के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने ,  पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए का  मुआवजा दिये जाने और घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग कर रहे हैं।

फिलहाल उपजिलाधिकारी बांगरमऊ दिनेश कुमार सिंह , सीओ बांगरमऊ अशुतोष कुमार , सीओ सफीपुर बीनू सिंह  भारी पुलिस बल के साथ  मौके मौजूद है और परिजनों को समझाने बुझाने का प्रयास कर रहे हैं ।

रिपोर्ट : पंकज शुक्ला

Related Posts

Follow Us