कोविड-19 टीकाकरण के लिए आशा कार्यकत्री कर रहीं घर-घर सर्वे

कोविड-19 टीकाकरण के लिए आशा कार्यकत्री कर रहीं घर-घर सर्वे

आजमगढ़:- जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा ग्रामीणों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। कोविड-19 टीका से कोई परिवार वंचित न रह जाये, इसके लिए आशा कार्यकर्ता घर-घर सर्वे का कार्य कर रही हैं। सर्वे में 18 वर्ष से ऊपर के लोग जो टीकाकरण से वंचित रह

आजमगढ़:- जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा ग्रामीणों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। कोविड-19 टीका से कोई परिवार वंचित न रह जाये, इसके लिए आशा कार्यकर्ता घर-घर सर्वे का कार्य कर रही हैं। सर्वे में 18 वर्ष से ऊपर के लोग जो टीकाकरण से वंचित रह गए हैं, उन्हें जागरूक किया जा रहा है जिससे वह इस महा अभियान में शामिल होकर राष्ट्र के प्रति अपना सहयोग दे सकें। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एके मिश्रा का
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा – कोविड-19 संक्रमण से बचाव का एक मात्र उपाय टीका ही है | टीका के प्रति भ्रमित होकर लोग संक्रमण से प्रभावित हो सकतें है| टीका से वंचित लोगों को टीका के प्रति जागरूक कर उन्हें जीवन रक्षक टीका से प्रतिरक्षित किया जा रहा है ।
जिला कम्युनिटी प्रोसेस प्रबन्धक (डीसीपीएम) विपिन पाठक ने बताया – गृह भ्रमण सर्वे में 3850 आशा कार्यकर्ताओं को लगाया गया है। सर्वे का मुख्य उद्देश्य शत-प्रतिशत लोगों को कोविड-19 टीका लगवाना, जिले में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के कितने लोगों का टीका लगना बाकी है और कितने लोगों को कोविड टीके की पहली व कितने लोगों को दूसरी डोज लग गयी है। साथ ही यह भी जानना कि किन कारणों से लोग टीका लगवाने में रूचि नहीं ले रहे हैं और किन कारणों से भ्रमित हो रहे हैं। इन सभी बिन्दुओं पर सूचना एक साफ्टवेयर में फीड कर सूची तैयार हो सके, जिससे टीका की सही मूल्यांकन किया जा सके | साथ ही बचे हुये लोगों को टीका के लिए जागरूक किया जा सके। इसके लिए विभिन्न सार्वजनिक स्थानों, बाजारों व विभिन्न कार्यालयों पर भी टीकाकरण सत्र का आयोजन शुरू किया गया, जिससे काफी हद तक लोगों को उनके कार्यस्थल पर ही टीकाकरण किया जा चुका है |
डीसीपीएम ने कहा – सभी आशा कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया गया है कि वह घर-घर जाकर सर्वे करें तथा सही सूचना संकलित करके साफ्टवेयर पर फीड कराएं, ताकि पात्र लोगों का शत प्रतिशत टीकाकरण कराया जा सके।
सर्वे के दौरान आशा कार्यकर्ताओं की मदद से ग्रामीणों को कोरोना टीकाकरण के लिए जागरूक किया जा रहा है। कोरोना से बचाव के लिए ‘दवाई भी-कड़ाई भी’ यानि अभी मास्क लगाना और एक दूसरे से दो गज की दूरी का पालन करना सभी के लिए जरूरी है। साबुन-पानी से अच्छी तरह से हाथ धुलने, खांसते-छींकते समय नाक और मुँह को ढके रखना। कोरोना के लक्षण दिखे तो तत्काल चिकित्सक से संपर्क करना। ग्रामीणों से अपील की है कि वह कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण जरूर करवाएं, इससे कोई नुकसान नहीं है।

रिपोर्ट शैलेन्द्र शर्मा

Follow Us