कुदरखी चीनीमिल से अजीज क्षेत्र के प्रधानों सहित सैकड़ों किसानों ने छेड़ी मुहिम,गन्ना अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

कुदरखी चीनीमिल से अजीज क्षेत्र के प्रधानों सहित सैकड़ों किसानों ने छेड़ी मुहिम,गन्ना अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

गोण्डा:- कुदरखी चीनी मिल की तानाशाही रवैया से आजिज किसानों व क्षेत्र के कई प्रधानों ने जिला गन्ना अधिकारी को ज्ञापन भेजकर गन्ना क्रय केंद्र ब का आवंटन कुदरखी चीनी मिल से हटाकर जरवल चीनी मिल बहराइच कराने की माँग की है। जिला गन्ना अधिकारी दिये ज्ञापन में क्रय केंद्र सरयू बा की दूरी इंडियन

गोण्डा:- कुदरखी चीनी मिल की तानाशाही रवैया से आजिज किसानों व क्षेत्र के कई प्रधानों ने जिला गन्ना अधिकारी को ज्ञापन भेजकर गन्ना क्रय केंद्र ब का आवंटन कुदरखी चीनी मिल से हटाकर जरवल चीनी मिल बहराइच कराने की माँग की है। जिला गन्ना अधिकारी दिये ज्ञापन में क्रय केंद्र सरयू बा की दूरी इंडियन पोटाश लिमिटेड चीनी मिल इकाई जरवल रोड से मात्र 12 किमी बताई गई है जबकि कुंदरूखी चीनी मिल की दूरी लगभग 65 किलोमीटर है। किसानों की समस्याओं का जिक्र करते हुए कहा गया है कि यहां के गन्ना किसान अपना गन्ना अपने साधन से कुंदरखी चीनी मिल के गेट पर ले जाते हैं और ले जाना भी चाहते हैं परंतु दूरी बहुत अधिक होने के कारण गन्ना क्रय केंद्र पर देना पड़ता है क्रय केंद्र पर गन्ना प्रदान करने में गन्ना परिवहन संबंधी बहुत दिक्कतें आती हैं। जो किसान भाड़े से गन्ना परिवहन करते हैं या कराते हैं उनके लिये गन्ना परिवहन करने में काफी धन की क्षति होती है। भाड़े से गन्ना परिवहन कराने के लिये टैक्टर प्रति चक्कर एकमुश्त भाड़े की मांग करता है उसमें गन्ने का वजन कम हो या ज्यादा। इस स्थिति में गन्ना किसान अधिकतम गन्ना लोड करा कर गेट पर ले जाने के लिए विवश हो जाता है, जबकि 60 -70 कुंतल गन्ना के वजन की सुविधा क्रय केंद्र पर नहीं होती इसी प्रकार के अन्य बहुत सी दिक्कतें हैं जिससे इस क्रय केंद्र पर गन्ना देने या चीनी मिल कुंदरखी के गेट पर गन्ना सप्लाई करने करने पर अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है एवं धन और समय की भी काफी नुकसान होता है। ज्ञापन में किसानों के हितों का जिक्र करते हुए कहा गया है किइंडियन पोटाश लिमिटेड चीनी मिल इकाई जरवल रोड बहराइच की सरजू ब क्रय केंद्र से दूरी मात्र 12 किमी है इस क्रय केंद्र क्षेत्र को किसानों के हित में इस केंद्र को इंडियन पोटाश  बहराइच से सम्बद्ध करना गन्ना किसानों के हित में व अति सराहनीय कदम होगा । भेजे गये ज्ञापन में क्षेत्र के लालेमऊ प्रधान राजकुमार, मुंडेरवा प्रधान श्रीमती कुसुम रानी,खजुरिया प्रधान रेखा देवी,बसेरिया प्रधान आशा देवी ,अजय कुमार सिंह,ईश्वर शरण सिंह,राजेश कुमार सिंह,देवेंद्र प्रताप सिंह,राजेन्द्र प्रताप सिंह,लल्लन सिंह,ब्रजेन्द्र कुमार,ज्वाला प्रसाद,फूलचन्द्र,अवधेश सिंह,परिवेश सिंह,सोनू सिंह,प्रदीप सिंह,डिम्पल सिंह,जगदम्बा प्रसाद तिवारी,भानु सिंह तथा आशीष सिंह समेत सैकड़ो किसानों के हस्ताक्षर हैं।

रिपोर्ट राहुल तिवारी

Also Read लापरवाही या हादसा : ट्रेन में सफर कर रहे युवक के गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौत

Recent News

Related Posts

Follow Us