पुलिसिया आतंक से भयभीत बीडीसी पहुंचा एसपी दरबार

पुलिसिया आतंक से भयभीत बीडीसी पहुंचा एसपी दरबार

आजमगढ़। कानून का भय दिखाकर फर्जी तरीके से गैंगस्टर एक्ट में पाबंद करने तथा घर को ध्वस्त कराने की धमकी का ऑडियो सोशल मीडिया पर इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है। निजामाबाद थाने पर तैनात एक पुलिसकर्मी द्वारा क्षेत्र पंचायत सदस्य को फोन पर गैंगस्टर के फर्जी मुकदमे में फंसाने के साथ ही

आजमगढ़। कानून का भय दिखाकर फर्जी तरीके से गैंगस्टर एक्ट में पाबंद करने तथा घर को ध्वस्त कराने की धमकी का ऑडियो सोशल मीडिया पर इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है। निजामाबाद थाने पर तैनात एक पुलिसकर्मी द्वारा क्षेत्र पंचायत सदस्य को फोन पर गैंगस्टर के फर्जी मुकदमे में फंसाने के साथ ही घर को ध्वस्त कराने की धमकी पुलिस के कार्यशैली की कलई खोलती है। मामला निजामाबाद थाने से जुड़ा है। सोमवार को पीड़ित पक्ष इस मामले में न्याय की गुहार लगाने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच गया।

निजामाबाद थाना क्षेत्र के त्रिमुहानी ग्राम निवासी श्रवण यादव पुत्र दयाराम यादव नवनिर्वाचित क्षेत्र पंचायत सदस्य है। सोमवार को पुलिस अधीक्षक यहां न्याय की गुहार लगाने पहुंचे पीड़ित बीडीसी का आरोप है कि स्थानीय थाने पर तैनात एक पुलिसकर्मी का कुछ अपराधी प्रवृत्ति लोगों से गहरे संबंध हैं। पुलिस संरक्षण प्राप्त उक्त अपराधी क्षेत्र में लोगों से जबरन रंगदारी टैक्स वसूलते हैं। इसी क्रम में बीते 23 जुलाई की रात 8 बजे अपराधियों को संरक्षण देने वाला पुलिसकर्मी फोन पर खुद को निजामाबाद थानाप्रभारी बताते हुए श्रवण यादव को गैंगस्टर के फर्जी मुकदमे में फंसाने तथा उसका घर ध्वस्त करा देने की धमकी देने लगा। इतना ही नहीं देर रात करीब 12 बजे उक्त पुलिसकर्मी त्रिमुहानी गांव के रहने वाले कुछ दबंग लोगों के साथ पीड़ित के घर पर धावा बोल दिया। बीडीसी श्रवण यादव का आरोप है कि उक्त सभी लोग पीड़ित के घर का दरवाजा तोड़ते हुए अंदर घुस गए और घर में मौजूद पत्नी के साथ छेड़खानी करते हुए 20 हजार रुपए व जेवर आदि उठा ले गए। विरोध करने पर पुलिसकर्मी पीड़ित को भी थाने लाकर हवालात में बंद कर दिए। दूसरे दिन सुबह पुलिस ने जबरन लिखित सुलहनामा लेने के बाद उसे रिहा कर दिया। पुलिस के इस कृत्य से भयभीत बीडीसी सोमवार को अपने परिजनों व समर्थकों के साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा। अपनी लिखित शिकायती पत्र में पीड़ित ने घटना की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया है। अब देखना यह है कि कानून का पाठ पढ़ाने वाली पुलिस के उच्चाधिकारी इस मामले में कौन सा रुख अख्तियार करते हैं।

Also Read दुल्हन को KISS करना दूल्हे को पड़ा भारी , दुल्हन दूल्हे के नाम F.I.R दर्ज करवाने पहुंच गई थाने

रिपोर्ट : शैलेंद्र शर्मा

Recent News

Related Posts

Follow Us