ब्रांडेड खैनी तंबाकू के नकली रेपरों में पैक माल बेचने बाले दुकानदार चढ़े पुलिस के हत्थे

ब्रांडेड खैनी तंबाकू के नकली रेपरों में पैक माल बेचने बाले दुकानदार चढ़े पुलिस के हत्थे

कायमगंज(फर्रुखाबाद): कस्बा शमशाबाद के मूल निवासी हेमचंद राजपूत चक्र छाप खैनी तंबाकू के रजिस्टर्ड कारोबारी हैं। नगर कायमगंज क्षेत्र में उनकी तंबाकू की एजेंसी गजेंद्र वर्मा के पास है । गजेंद्र ही इस क्षेत्र में दुकानदारों को माल बिक्री करते हैं । उनके अनुसार कुछ समय पहले तक उनके माल के प्रति माह काफी पैकेट

कायमगंज(फर्रुखाबाद): कस्बा शमशाबाद के मूल निवासी हेमचंद राजपूत चक्र छाप खैनी तंबाकू के रजिस्टर्ड कारोबारी हैं। नगर कायमगंज क्षेत्र में उनकी तंबाकू की एजेंसी गजेंद्र वर्मा के पास है । गजेंद्र ही इस क्षेत्र में दुकानदारों को माल बिक्री करते हैं । उनके अनुसार कुछ समय पहले तक उनके माल के प्रति माह काफी पैकेट सप्लाई होते थे। किंतु धीरे-धीरे माल की सप्लाई कम होने लगी। इस बात को लेकर मुख्य कारोबारी हेमचंद्र को शक होने लगा।

उन्होंने अपने सूत्रों से इस बात का पता लगाने के लिए प्रयास शुरू कर दिया । आज नगर कायमगंज के समीप बसे गांव सुभानपुर के निवासी पान विक्रेता इमरान की दुकान पर चक्र छाप तंबाकू के नाम से नकली रेपरों में पैक माल मिल गया। फर्म स्वामी हेमचंद ने पुलिस को सूचना देते हुए इसकी जानकारी जीएसटी टीम को भी दी । पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दुकानदार इमरान को नकली माल सहित गिरफ्त में ले लिया ।उधर जब उससे पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसे यह पता नहीं है कि यह माल असली है अथवा नकली, उसे तो गांव गढी इज्जत निवासी डिंपल पुत्र गिरजा शंकर ने इस माल की सप्लाई बिक्री करने के लिए दी थी ।

Also Read शौर्य दिवस पर धर्म रक्षा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय संयोजक किए गए नजरबंद

पूछताछ के दौरान पता चला कि नकली रेपरों में खैनी तंबाकू की पैकिंग थाना मेरापुर क्षेत्र के गांव अचरा में बड़े स्तर पर की जा रही है । इस पर फर्म मालिक, पुलिस एवं जीएसटी टीम ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए अचरा में छापा डालकर बड़ी मात्रा में नकली रेपरों में पैक किए हुए तंबाकू पुड़ियों के पैकेट बरामद कर लिए। जिन्हें समाचार लिखे जाने तक लोडर पर लादकर लाया जा रहा था ।उधर डिंपल की तलाश में जब उसके घर पर टीम पहुंची। तो वह टीम को नहीं मिला। ज्ञात हो कि यह कोई अकेले चक्र छाप तंबाकू का ही मामला नहीं है। कायमगंज में तो अन्य तमाम वस्तुएं जैसे नकली पहलवान बीड़ी ,चकोर ,जीत बीड़ी के अलावा भी अन्य खाद्य वस्तुएं भी कंपनी के नाम वाले रेपरों में भरकर बड़े पैमाने पर खुलेआम बेची जा रही हैं।

  • रिपोर्ट : दानिश खान

Recent News

Related Posts

Follow Us