15 सितम्बर से कानपुर से दिल्ली,मुम्बई,बेंगलुरू और हैदराबाद की सीधी उड़ान

15 सितम्बर से कानपुर से दिल्ली,मुम्बई,बेंगलुरू और हैदराबाद की सीधी उड़ान

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की औद्योगिक नगरी कानपुर से दिल्ली, मुबंई,बेंगलुरू और हैदराबाद के लिये सीधी विमान सेवा 15 सितम्बर से शुरू हो जायेगी वहीं 12 अगस्त से बरेली से मुम्बई और 14 अगस्त से बेंगलुरू के लिये उडान शुरू होंगी। सूबे के नागरिक उड्डयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी‘ ने मंगलवार को एक समीक्षा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की औद्योगिक नगरी कानपुर से दिल्ली, मुबंई,बेंगलुरू और हैदराबाद के लिये सीधी विमान सेवा 15 सितम्बर से शुरू हो जायेगी वहीं 12 अगस्त से बरेली से मुम्बई और 14 अगस्त से बेंगलुरू के लिये उडान शुरू होंगी।

सूबे के नागरिक उड्डयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी‘ ने मंगलवार को एक समीक्षा बैठक में कहा कि 15 सितम्बर से कानपुर एयरपोर्ट से दिल्ली, मुम्बई, बेंगलुरू और हैदराबाद के लिए सीधी उड़ान शुरू होने जा रही है। बैठक में प्रदेश के अन्य एयरपोर्टों को जल्द ही विकसित करने के साथ ही हिंडन एयरपोर्ट से वाराणसी, लखनऊ और प्रयागराज के लिए फ्लाइट का ट्रॉयल शुरू करने पर चर्चा हुई।

नन्दी ने बताया कि बरेली पश्चिमी उत्तर प्रदेश का एक महत्वपूर्ण जिला एवं मंडल मुख्यालय है। हमारी सरकार ने वादों से आगे बढ़ कर बरेली एयरपोर्ट को न केवल समय सीमा से पूरा किया बल्कि वहां से विमानों का संचालन भी शुरू हो गया। दिल्ली की उड़ान पहले से ही संचालित थी और अब इसमें बेंगलुरु और मुंबई भी शामिल हो गए हैं। इससे इस पूरे क्षेत्र की जनता को यात्रा की सहूलियत तो होगी ही साथ ही व्यापार एवं रोजगार के नए अवसरों में वृद्धि होगी।
उन्होंने कहा कि एविएशन सेक्टर में प्रदेश को नंबर वन बनाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विजन को साकार करने के प्रति हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं और इस दिशा में तत्परता से आगे बढ़ रहे हैं।

Also Read IIT Kanpur में आयोजित हुई पुष्प प्रदर्शनी

नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों ने मंत्री नन्दी को बताया कि अलीगढ़, मुरादाबाद एयरपोर्ट निर्माण का कार्य जहां पूरा हो गया है, वहीं आजमगढ़, श्रावस्ती, चित्रकूट, मेरठ के साथ ही अन्य एयरपोर्ट का विकास कार्य अन्तिम चरण में है। इसी वर्ष नए एयरपोर्ट्स क्रियाशील हो जायेंगे और इस प्रकार चालू एयरपोर्ट्स की संख्या भी बढ़ जाएगी।
मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार के आने के बाद से एयरपोर्ट्स के विकास कार्यों को त्वरित गति प्राप्त हुई है और उत्तर प्रदेश सरकार के नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा विकसित किये जा रहे एयरपोर्ट्स के कार्यों की केन्द्र सरकार के स्तर पर काफी सराहना की गई है। उन्होंने कहा कि जेवर एयरपोर्ट की भांति ही उत्तर प्रदेश के अन्य एयरपोर्ट्स को पीपीपी माडल पर विकसित एवं संचालित किये जाने की संभावनाओं को भी देखा जाए और इसके लिए एएआई से समन्वय करते हुए डेवलपर्स के साथ चर्चा की जाए।

उन्होने लखनऊ, गोरखपुर, कानपुर नगर, प्रयागराज, आगरा, हिण्डन (गाजियाबाद), बरेली, अलीगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती, मुरादाबाद, चित्रकूट, म्योरपुर (सोनभद्र), झांसी, अयोध्या, कुशीनगर तथा सरसावा (सहारनपुर) एयरपोर्ट्स की मौजूदा स्थिति की जानकारी ली। नन्दी ने नागरिक उड्डयन निदेशालय परिसर में क्रियाशील एयरोनॉटिकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट द्वारा विमानन के क्षेत्र में संचालित किए जा रहे कोर्सेस पर भी चर्चा की।

वार्ता

Related Posts

Follow Us