सरकारी स्कूल के शिक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

सरकारी स्कूल के शिक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

बिधूना (औरैया)- औरैया जनपद के कोतवाली क्षेत्र बिधूना में एक सरकारी स्कूल के शिक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक शिक्षक का कुछ आपसी लोगों से लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था, जिस कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया। पुलिस इस मामले की छानबीन में जुट गई है। बताया

बिधूना (औरैया)- औरैया जनपद के कोतवाली क्षेत्र बिधूना में एक सरकारी स्कूल के शिक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक शिक्षक का कुछ आपसी लोगों से लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था, जिस कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया। पुलिस इस मामले की छानबीन में जुट गई है। बताया जा रहा है कि बिधूना कस्बे के मोहल्ला आदर्शनगर निवासी 40 वर्षीय शिक्षक देवेन्द्र सिंह भदौरिया आज करीब एक बजे अपने विद्यालय से निकले और घर न जा कर बेला रोड़ पर रामगंगा नहर के पास स्थित किन्द्रापुर्वा गांव के समीप बबूल की झाड़ियों में जाकर पेड़ से रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली, जिससे उनकी मृत्यु हो गई। देवेन्द्र सिंह भदौरिया एरवाकटरा ब्लाक के सूरजपुर एरवा गांव स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में शिक्षक थे। पड़ोस के गांव के बच्चे जानवर चराने जंगल में गये तो उन्होंने पेड़ पर लटका शव देखा और ग्रामीणों को जानकारी दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शिक्षक के शव को पेड़ से उतारा।


उनकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें आत्महत्या के एक दिन पहले करीब दो बजे फोन से अपने चचेरे भाई गौरव से बात कर एक वकील का मोबाइल नम्बर लिया, जिसके बाद वह उस वकील से मिलने गये और उसके बाद मार्केट से रस्सी खरीदकर नहर पर जाकर किन्द्रापुर्वा के समीप बबूल के जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि मृतक शिक्षक का कुछ आपसी लोगों से लेनदेन/जमीनी विवाद चल रहा था जिस कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।



रिपोर्ट- अंकुर गुप्ता

Related Posts

Follow Us