चंदन की लकड़ी के तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे

चंदन की लकड़ी के तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे

मध्य प्रदेश : राजगढ़ जनपद थाना लीमाचौहानआपको बता दे की थाना लीमा चौहान पुलिस द्वारा अवैध चंदन चोरी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की है|जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा, के निर्देशन में एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस आर दंडोतिया, व एसडीओपी जोईस दास, के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी उमाशंकर मुकाती, एवं उनकी टीम द्वारा अवैध चंदन

मध्य प्रदेश : राजगढ़ जनपद थाना लीमाचौहान
आपको बता दे की थाना लीमा चौहान पुलिस द्वारा अवैध चंदन चोरी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की है|
जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा, के निर्देशन में एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस आर दंडोतिया, व एसडीओपी जोईस दास, के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी उमाशंकर मुकाती, एवं उनकी टीम द्वारा अवैध चंदन चोरी के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए, बीते दिनों शुक्रवार को मोहना रोड नदी के पास खजूरिया घाटा से मुखबिर सूचना के आधार पर दो व्यक्तियों को कुल 9 किलो 800 ग्राम चंदन की लकड़ी के टुकड़े एक मोटरसाइकिल हीरो होंडा स्प्लेंडर प्रो के साथ गिरफ्तार किया गया है|
आपको बता दें कि आरोपी के कब्जे से मिली चंदन की लकड़ी की कीमत करीबन 19700 रुपये है|
उक्त मामले में कार्यवाही करते हुए आरोपी के विरुद्ध अपराध क्रमांक 224/20 धारा 379 भादवि 26/52 भारतीय वन अधिनियम का मुकदमा कायम किया गया है|
आपको बता दें कि मामला इस प्रकार है की बीते दिनों शुक्रवार को करीबन 08:30 बजे मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई, की मोहना रोड नदी के पास खजूरिया घाटा मैं दो लोग चंदन चोरी कर ले जा रहे हैं|
मुखबिर द्वारा बताएं स्थान पर पुलिस टीम पहुंची और देखा कि दो व्यक्ति एक मोटरसाइकिल पर बैठकर नदी पार करने की कोशिश कर रहे थे, तभी दोनों आरोपियों को रुकने को कहा गया दूरी होने के कारण एक आदमी मोटरसाइकिल पर बंधे थैले को लेकर भाग निकला और एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया, जिससे नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम शरीफ पिता सुल्तान खान, निवासी मुल्तानी का होना बताया उसके बाद आरोपी से अपने साथी जो कि मोटरसाइकिल से थैला लेकर फरार हुआ था, आरोपी से पूछताछ करने पर उसने दूसरे आरोपी का नाम सद्दाम पिता इस्माइल खा निवासी पिपलोन खुर्द (थाना आगर) का होना बताया आरोपी सद्दाम की तलाश करके आरोपी को पिपलोन से गिरफ्तार किया गया,
उक्त सराहनीय कार्यवाही में थाना प्रभारी उनि उमाशंकर मुकाती, व उनकी टीम के पीएसआई अमित त्यागी, प्रधान आरक्षक 134 आनंदीलाल, आरक्षक 978 रवि मीणा, आरक्षक 291 धर्मेंद्र, आरक्षक 75 कमल, आरक्षक 771 अनिल, आरक्षक 976 शुभम पटवा, व सैनिक 159 भारत वर्मा, का महत्वपूर्ण योगदान रहा|

रिपोर्ट :- कमल चौहान

Also Read प्रेम संबंध में बाधा बन रहे जीजा को साली ने उतारा मौत के घाट , जानिए कैसे रची हत्या की साजिश

Related Posts

Follow Us