लॉकडाउन में घर जमाई बने जीजा साली को ही ले उड़े

लॉकडाउन में घर जमाई बने जीजा साली को ही ले उड़े

लॉकडाउन ने सभी की जिंदगी यों को लॉक कर दिया था। जो जहां था वहीं रह गया। चाहे वह ससुराल हो या रिश्तेदार का घर। और इसी बहाने रिश्तो को और अपनों को जहां भरपूर वक्त देने का मौका लोगों को मिला तो कुछ लोगों ने अपना रिश्ता ही बदल लिया।आज हम आपको एक ऐसी

लॉकडाउन ने सभी की जिंदगी यों को लॉक कर दिया था। जो जहां था वहीं रह गया। चाहे वह ससुराल हो या रिश्तेदार का घर। और इसी बहाने रिश्तो को और अपनों को जहां भरपूर वक्त देने का मौका लोगों को मिला तो कुछ लोगों ने अपना रिश्ता ही बदल लिया।आज हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।लॉकडाउन में लोगों ने भरपूर समय परिवार को दिया। इस लॉकडाउन में बहुत से परिवार तो सभले तो बहुत से परिवारों मैं मनमुटाव हो गया। आज हम लॉकडाउन की फुर्सत वाली कहानी आपको बताएंगे। यह मामला है मध्य प्रदेश के विदिशा का है‌। जहां एक घर जमाई बनकर रह रहे दमाद ने लॉकडाउन में साली से ही मोहब्बत कर ली। और साली को लेकर चक्कर हो गया।

विदिशा के नटेरन के पमारिया गांव में लॉकडाउन में कामकाज बंद होने के कारण 2 महीने तक घर जमाई बनकर रह रहे दमाद जी ने साली से ही मोहब्बत कर ली। जब उसकी पत्नी और सास को कुछ शक हुआ तो दामाद ने यह कहकर बात को टाल दिया कि वह उसकी बहन जैसी है ‌। और साली से प्रेम कर बैठे दामाद जी अभी कुछ दिन पहले ही अपनी 17 साल की साली को लेकर फरार हो गए। जब मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने छानबीन कर 3 दिन पहले उनको ढूंढ लिया।


आपको बता दें पुलिस ने नाबालिग साली को ढूंढकर उनके परिजनों को सौंप दिया। बीते शुक्रवार के दिन साली ने अपने घर पर जहरीला पदार्थ खा लिया जिससे उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भर्ती कराया गया। खास बात यह है कि इस दौरान उसकी बड़ी बहन भी इलाज कराने उसके साथ आयी।

आखिर क्या है पूरा मामला

विदिशा के पमरिया गांव निवासी रिंकी का विवाह करीब 5 साल पहले भोपाल के गौतम नगर निवासी बृजेश अहिरवार से हुआ था। आपको बता दें कि रिंकी और बृजेश के दो संतानें भी हैं। रिंकी ने बताया कि लॉकडाउन में काम बंद होने के कारण तंगी चल रही थी।माता पिता के कहने पर वह बृजेश को साथ लेकर अपने मायके आ गई।

बृजेश मई और जून में करीब 2 महीने तक ससुराल में रहा इस दौरान उसको अपनी साली से मोहब्बत हो गई। रिंकी के मुताबिक उसकी मां और उसे शक भी हुआ था। तब बृजेश ने उसकी मां के पूछने पर कहा था कि यह मेरी बहन जैसी है आप गलत मत समझो, उधर रिंकी की मां का कहना है कि हमने उसे बेटे की तरह माना, लेकिन उसने हमारे घर में ही बिगाड़ करा दिया‌।

लॉकडाउन की वजह से घर जमाई बनकर रह रहे बृजेश जुलाई में अपनी पत्नी को लेकर भोपाल के गौतम बुध नगर आ गया। यहां बात-बात पर पत्नी के साथ मारपीट करने लगा और उसे छोड़ने की धमकी भी देता था। जिसके कारण उसकी पत्नी रिंकी अपने मायके आकर रहने लगी।लगभग 7 दिन पहले बृजेश ससुराल आया और साली को बाइक पर बैठाकर कहीं ले गया। जिसकी रिपोर्ट परिजनों ने नटेरन थाने में की पुलिस ने 3 दिन पहले युवती को बृजेश के घर से बरामद कर थाने ले आई।

थाने में दोनों पक्षों के पहुंचने के बाद राजीनामा हुआ जिसमें तय हुआ कि बृजेश अपनी पत्नी के साथ मारपीट नहीं करेगा और उसे अपने घर ले जाएगा। साली से भी कोई संबंध नहीं रखेगा। इसके बाद वह रिंकी को लेकर भोपाल चला गया। उसके 2 दिन बाद ही बच्चों को अपने साथ रख कर उसे नटेरन भगा दिया। शुक्रवार रिंकी की बहन ने अपने घर पर कोई जहरीला पदार्थ खा लिया।

Related Posts

Follow Us