रेत के बाद अब माफियाओं की नजर मौरंग पर

रेत के बाद अब माफियाओं की नजर मौरंग पर

मुरूमशहडोल । प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान भलेे ही खनन माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की चेतावनी देते नहीं थक रहे हैं लेकिन उनकी इन धमकियों का फर्क उनके ही दल से जुड़े खनिज के वैध – अवैध कारोबार से जुड़े सफेदपोशों पर नहीं पड़ रही है , सत्ताधारी दल से जुड़े इन माफियाओं

मुरूमशहडोल । प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान भलेे ही खनन माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की चेतावनी देते नहीं थक रहे हैं लेकिन उनकी इन धमकियों का फर्क उनके ही दल से जुड़े खनिज के वैध – अवैध कारोबार से जुड़े सफेदपोशों पर नहीं पड़ रही है , सत्ताधारी दल से जुड़े इन माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद हैं कि वे अब खनिज नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए और प्रशासन में बैठे जिम्मेदारों की आंखों में धूल झोंककर अवैध कार्यों को अंजाम देने में मशगूल हैं ।

रेत के बाद अब मुरूम का कार्य जोरों पर

नदियों का सीना छलनी करने के बाद अब खनिज माफियाओं की कुदृष्टि अब अब मुरूम पर भी पड़ गई है , शासन को राजस्व की हानि पहुंचाना अब इनकी आदतों में शुमार हो चुका है , सत्ताधारी दल से जुड़े होने के कारण प्रशासन भी इन माफियाओं के खिलाफ कोई कार्यवाही करने से बचते हुए नजर आ रहे हैं ।

क्या है मामला

ग्राम पंचायत पकरिया जनपद पंचायत बुढार द्वारा बुढार थाने में इस आशय की शिकायत की गई है कि ग्राम पंचायत के क्षेत्र से अवैध मुरूम का उत्खनन किया जा कर अनूपपुर – कटनी के बीच बिछाई जा रही तीसरी लाइन में किसी झांझरिया कंपनी को सप्लाई किया जा रहा है , ग्राम पंचायत पकरिया से जुड़े जनप्रतिनिधियों के अनुसार इस मुरूम उत्खनन की अनुमति ग्राम पंचायत द्वारा नहीं दी गई है और यह उत्खनन अवैध है ।

कौन है इस अवैध खनन का सूत्रधार

ग्रामीणों की माने तो जिस स्थान पर मुरूम उत्खनन का कार्य किया जा रहा है वह खदान बुढार जनपद की उपाध्यक्ष अन्नुरानी सिंह के नाम पत्थर खदान के नाम से स्वीकृत है जो कि अभी जनपद पंचायत बुढार के उपाध्यक्ष पद पर आसीन हैं और इनके पति भाजपा मंडल बुढार के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं, इस खदान को स्वीकृति पत्थर के लिए है पर किस खनिज अधिनियम के तहत इस खदान मुरूम का उत्खनन किया का रहा है , यह तो खनिज विभाग ही स्पष्ट कर सकता है ।

ग्राम पंचायत से जुड़े पदाधिकारियों ने शिकायत की स्थानीय थाने में

इस अवैध उत्खनन को लेकर पंचायत से जुड़े स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने बुढार थाने में इस आशय की शिकायत की गई कि भारतीय संविधान द्वारा पांचवीं अनुसूची के तहत उल्लेखित ग्राम पंचायतों को प्रद्धत अधिकारों उल्लंघन करते हुए बिना किसी पूर्वानुमति के क्षेत्र से मुरूम का उत्खनन का कार्य किया जा रहा है इस अवैध उत्खनन के विरुद्ध कार्यवाही की जाए ।

इनका कहना है
हमारे द्वारा पत्थर खदान में ओबी हटाने का कार्य किया जा रहा है , जिसकी अनुमति खदान के मालिक अन्नू सिंह के द्वारा दी गई है,कल शहडोल आइए बैठकर बात करते हैं।
सुधीर सिंह , ठेकेदार

रिपोर्ट : अविनाश शर्मा

Also Read थाना प्रांगण में बकरीद को लेकर शांति समिति की बैठक की गई आयोजित

Related Posts

Follow Us