युवा निखार रहे बच्चों का भविष्य, ग्रामीण क्षेत्रों में कर रहे निशुल्क पाठशाला का संचालन

युवा निखार रहे बच्चों का भविष्य, ग्रामीण क्षेत्रों में कर रहे निशुल्क पाठशाला का संचालन

शहडोल – युवा द्वारा अभी भी चलाई जा रही है ग्रामीण अंचलों में निशुल्क पाठशाला यह पाठशाला कोविड-19 के स्कूल बंद होने के समय पर आरंभ की गई थी जिसमें छोटे छोटे बच्चों एवं बड़े बच्चों की पढ़ाई का नुकसान ना हो सके एवं जो कोविड-19 में उनकी पढ़ाई अधूरी रह गई उसके लिए युवाओं

शहडोल – युवा द्वारा अभी भी चलाई जा रही है ग्रामीण अंचलों में निशुल्क पाठशाला यह पाठशाला कोविड-19 के स्कूल बंद होने के समय पर आरंभ की गई थी जिसमें छोटे छोटे बच्चों एवं बड़े बच्चों की पढ़ाई का नुकसान ना हो सके एवं जो कोविड-19 में उनकी पढ़ाई अधूरी रह गई उसके लिए युवाओं द्वारा ग्रामीण अंचलों में पहुंच कर लगभग 8 महीनों से लगातार बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान करने में जुटे हुए हैं युवा हिमांशु तिवारी ने बताया कि निशुल्क पाठशाला 8 महीने से प्रतिदिन लगातार ग्रामीण एवं शहर अंचलों पर चलाई जा रही है।

जिसमें बच्चे बढ़-चढ़कर आते हैं और शिक्षा प्रदान करते हैं इस अभियान में जिले के ग्रामीण अंचलों के हमारे युवा साथी वाह छात्रा का बड़ा योगदान है हमारा यह प्रयास रहा है कि जो कोविड-19 में बच्चों की पढ़ाई छूट गई है उसे पूरा करने की पूरा प्रयास हम सभी युवाओं ने किया है इस अभियान में युवा हिमांशु तिवारी,रंजना विश्वकर्मा,लष्मी सिंह , देवकी सिंह नरेश प्रजापति प्रेरणा तिवारी,योगेन्द्र सिंह, उत्कर्ष माथुर,नितिन बशानी,रानी सिंह राठौर पूजा श्रीवास एवं सभी युवाओं वाह छात्रा का योगदान रहा।

Also Read मुंबई के डायरेक्टर ने लोकेशन देख तलाशी फ़िल्म निर्माण की संभावनाएं

रिपोर्ट : अविनाश शर्मा

Follow Us