MP शिक्षा मंत्री का अभिभावकों से विवादित बोल

MP शिक्षा मंत्री का अभिभावकों से विवादित बोल

भोपाल। मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का अजीबोगरीब बयान सामने आया है जिससे अभिभावकों में बवाल मच गया है। अभिभावकों ने आरोप लगाया है कि शिक्षा मंत्री उनके साथ असभ्यता से पेश आए और आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया। ये अभिभावक निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ शिकायत करने पहुंचे थे।

भोपाल। मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का अजीबोगरीब बयान सामने आया है जिससे अभिभावकों में बवाल मच गया है। अभिभावकों ने आरोप लगाया है कि शिक्षा मंत्री उनके साथ असभ्यता से पेश आए और आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया। ये अभिभावक निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ शिकायत करने पहुंचे थे। पेरेंट्स का कहना है मंत्रीजी ने उनकी समस्या का समाधान तो किया नहीं किया बल्कि अभिभावकों को उल्टा ये बोले कि मरना है तो मर जाओ। स्कूल शिक्षा मंत्री के इस बयान से अभिभावकों में नाराजगी है तो विपक्ष पार्टी कांग्रेस को भी हमला करने का मौका मिल गया है। भोपाल में बड़ी संख्या में अभिभावक प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री से मिलने पहुंचे थे। सभी लोग निजी स्कूलों की मनमानी की शिकायत करने गए थे। अभिभावकों का कहना है कि बातचीत के दौरान मंत्री इंदर सिंह परमार अचानक गुस्से में आ गए। अभिभावकों पर आग बबूला हो कर उन्होंने कहा कि आप सभी को जहां भी शिकायत करनी है शिकायत कर दीजिए। आप लोगों को कोई आंदोलन करना है तो आंदोलन कर लीजिए। आप लोगों को मरना है तो मर जाइए।

पालक महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष कमल विश्वकर्मा का कहना है सभी अभिभावक मंत्री के व्यवहार और अभद्रता से आहत हैं। अभिभावकों को उम्मीद थी कि स्कूल शिक्षा मंत्री समस्या समाधान की बात करेंगे। लेकिन मंत्री समस्या के समाधान की जगह निजी स्कूलों की मनमानी को और बढ़ावा दे रहे हैं। पालक महासंघ ने मुख्यमंत्री से इस पूरे मामले पर संज्ञान लेने की गुहार लगाई है।

  • आसिफ खान

Also Read भारतीय जनता पार्टी सुपौल के द्वारा भाजपा कार्यालय में 1975 के आपातकाल को लेकर काला दिवस मनाया गया

Follow Us