उपभोक्ता की शिकायत पर मीटर वाचक को किया सस्पेंड

उपभोक्ता की शिकायत पर मीटर वाचक को किया सस्पेंड

राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- उल्लेखनीय है कि खिलचीपुर तहसील के नगर छापीहेड़ा में मीटर रीडिंग मैं लगातार आ रही गड़बड़ियों को लेकर उपभोक्ता पन्नालाल छिता जी, की शिकायत पर मीटर वाचक नागर को सस्पेंड किया गया है।आपको बता दें कि लगातार मीटर में आ रही गड़बड़ियों को लेकर उपभोक्ता पन्नालाल मालवीय, द्वारा बीते 4-5 महीनों से

राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- उल्लेखनीय है कि खिलचीपुर तहसील के नगर छापीहेड़ा में मीटर रीडिंग मैं लगातार आ रही गड़बड़ियों को लेकर उपभोक्ता पन्नालाल छिता जी, की शिकायत पर मीटर वाचक नागर को सस्पेंड किया गया है।
आपको बता दें कि लगातार मीटर में आ रही गड़बड़ियों को लेकर उपभोक्ता पन्नालाल मालवीय, द्वारा बीते 4-5 महीनों से बिजली विभाग में जाकर शिकायत की गई।

पन्नालाल मालवीय का कहना है कि मीटर वाचक द्वारा उपभोक्ताओं को बीते साल गर्मी में हुई खपत को आंकलित खपत का प्रतिशत जोड़कर बिल भेज दिया जा रहा था, कई बार शिकायत करने पर भी कुछ नहीं हुआ तो कनेक्शन काटने की बात कहीं गई तब जाकर अधिकारियों ने मीटर वाचक के खिलाफ कार्यवाही की तथा मीटर वाचक को सस्पेंड कर दिया गया है। गलती विभाग की भुगतना पड़ रहा उपभोक्ताओं को विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते उपभोक्ताओं को समय पर बिजली बिल नहीं मिल रहा है, और जब मिल रहा है तो अंदाज़ के आधार पर अनाप-शनाप बिल थमाया जा रहा है।

Also Read भूमि विवाद निपटारे को लेकर थाना प्रांगण में लगाया गया जनता दरबार

आपको बता दें कि लापरवाही इस कदर है कि कई घर में मात्र दो से तीन बल्ब एक पंखा ही चलने पर भी बिल 3 से 4 हजार रुपए का बिल दिया जा रहा है।
‌ऐसे में बिजली विभाग की गलती की भी सजा आम उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रही है।
दरअसल शहर और ग्रामीण क्षेत्र में बिजली उपभोक्ताओं के घर 2 माह बाद अचानक से हजारों रुपए के बिल भेजे जा रहे हैं, जिससे आम उपभोक्ता खासा परेशान हैं और कार्यालयों के चक्कर काट काटकर परेशान हो रहे हैं।
बिजली उपभोक्ताओं को अब यह समझ में नहीं आ रहा है कि इस कठिनाई के समय में वह हजारों रुपए का भुगतान कैसे करें जबकि ना तो उन्हें 2 माह से बिल मिला था, और ना ही रीडिंग हुई थी।
बिजली कंपनी द्वारा ना तो समय पर रीडिंग कराई गई और ना ही बिल भेजा गया, अब अचानक से हजारों रुपए के बिल आंकलित खपत के नाम पर भेजे जा रहे हैं।
पन्नालाल मालवीय उपभोक्ता वार्ड क्रमांक 14 छापीहेड़ा इनका कहना है
जब से मीटर घर के बाहर लगाया गया है, तब से रीडिंग में गड़बड़ी की जा रही है रीडिंग कब होता है इसका पता भी नहीं चलता अधिकारी कोई ध्यान नहीं देते शिकायत करने पर जितना यूनिट जलाया गया उतना बिल भेजा गया है कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं।

राकेश सिलोरिया जे ई विद्युत वितरण केंद्र छापीहेड़ा इनका कहना है
लगातार आ रही शिकायतों को लेकर अनियमिता पाए जाने पर यह कार्यवाही की गई है।

रिपोर्ट कमल चौहान

Related Posts

Follow Us