आरोपी गिरफ्तार हुए तब खुला राज बहन के प्रेमी ने ही भाई को उतारा था मौत के घाट

आरोपी गिरफ्तार हुए तब खुला राज बहन के प्रेमी ने ही भाई को उतारा था मौत के घाट

राजगढ़:- मध्य प्रदेश थाना सुठालिया क्षेत्र के बेरिया खेड़ी, गांव में कुछ अज्ञात बदमाशों ने डकैती डालने की नियत से घर में घुसकर एक युवक एवं उसके परिवार वालों के साथ गंभीर मारपीट की आपको बता दें कि मामले की सूचना दिनांक 10/06/2021 को क्षेत्र की हंड्रेड डायल पर प्राप्त हुई थी।इवेंट प्राप्त हुआ था

राजगढ़:- मध्य प्रदेश थाना सुठालिया क्षेत्र के बेरिया खेड़ी, गांव में कुछ अज्ञात बदमाशों ने डकैती डालने की नियत से घर में घुसकर एक युवक एवं उसके परिवार वालों के साथ गंभीर मारपीट की आपको बता दें कि मामले की सूचना दिनांक 10/06/2021 को क्षेत्र की हंड्रेड डायल पर प्राप्त हुई थी।
इवेंट प्राप्त हुआ था की ग्राम बैरिया खेड़ी, में निवासरत निरंजन मीना, और उसके परिवार के साथ मारपीट हुई है। जिन्हें हंड्रेड डायल से लेकर सुठालिया अस्पताल दाखिल कराया गया है।
सूचना पर थाना प्रभारी सुठालिया अपने स्टाफ के साथ तत्काल अस्पताल सुठालिया पहुंचे जहां निरंजन मीना, उसकी पत्नी राममूर्ति बाई मीना, और गांव के लोग मिले पूछताछ करने पर निरंजन मीना, ने बताया कि मारपीट में गंभीर रूप से घायल होने और मारपीट में आई चोटों के कारण उसके लड़के सोनू मीना, की मृत्यु हो गई है।
घटना की गंभीरता को देखते हुए मामले से तत्काल वरिष्ठ अधिकारी गणों को अवगत कराया गया।
आपको बता दें कि घटना की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा, द्वारा तत्काल एक विशेष टीम का गठन किया। जिसमें सुठालिया सहित अन्य थानों से पुलिस अधिकारियों को लगाया गया।
पीड़ित निरंजन मीना, से आगामी पूछताछ की गई तो उसने बताया कि गई रात को वह उसकी पत्नी राममूर्ति बाई, लड़का सोनू, बहू फूल्ली बाई, और उसकी लड़की रामवती, गांव से दूर बने मकान पर खाना खाकर सो गए थे।
सब बाहर सो रहे थे, और लड़का सोनू, अंदर कमरे में सो रहा था। रात को करीब 11:30 के लगभग मैंने चिल्ला चोट की आवाज सुनी और हम उठ गए मैंने और मेरी पत्नी ने देखा तो 20 से 30 साल की उम्र के चार व्यक्ति पेंट व शर्ट पहने हुए थे, और हाथों में लाठियां लिए थे। और मेरे लड़के सोनू मीना, से कह रहे थे कि पैसा कहां रखा है।
जब उसने उन्हें कुछ नहीं बताया तो चारों लोग उसे लाठियों से मारने लगे और उन्होंने मेरे परिवार के साथ साथ मेरे साथ भी मारपीट की और मेरी पलंग पेटी में रखें 1 लाख 50 हजार रुपए, नगद व बहू का मंगलसूत्र, एवं पायजेब, ले गए।
मेरे लड़के सोनू को ज्यादा चोट लगने से इलाज कराने अस्पताल सुठालिया लेकर आए थे जहां उसकी मौत हो गई।
फरियादी की सूचना पर थाना पर अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध थाना सुठालिया में अपराध क्रमांक 264/2021 धारा 458, 323, 302, 397, भादवी के तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद, एवं अनुविभागीय पुलिस अधिकारी ब्यावरा किरण अहिरवार, के मार्गदर्शन में गठित टीम में थाना प्रभारी सुठालिया, के नेतृत्व में थाना ब्यावरा शहर के उनि रजनीश सिरोठिया, को रखकर शीघ्र ही इस मामले के आरोपीयान को पकड़ने हेतु पाबंद किया।
विवेचना के दौरान फरियादी निरंजन मीना, व उसके घर के लोगों से बारीकी से पूछताछ की जिन्होंने एक बड़ा खुलासा करते हुए पुलिस टीम को बताया कि हमारे पैसे, मंगलसूत्र, और पायजेब, वो अज्ञात लोग लेकर नहीं गए हैं।
सारा का सारा सामान हमारे ही पास है।
पुलिस टीम द्वारा संदेहीयान के बारे में तकनीकी जानकारी संकलित कर संदेही दीपक मीना, निवासी रमडी थाना चाचौड़ा, से पूछताछ की तो वह इधर उधर की बातें करने लगा वहीं जब उससे हिकमत अमली से पूछताछ करने पर उसने बताया कि मैं ग्राम बेरिया खेड़ी के सोनू मीना पिता निरंजन मीना, को जानता हूं मैं उसकी बहन से फोन पर बातें करता था, और उससे प्यार करता था।
दिनांक 05/06/2021 को अपने साथी धर्मेंद्र मीना, अजय मीना, नरेश मीना, व धर्मेंद्र मीना, के सांथ सोनू मीना, की बहन से मिलने गया था। और उस दिन मैंने उसका और मेरा दोनों का एक साथ फोटो खींच लिया था। और उससे मिलकर वापस अपने साथियों के साथ आ गया था।
फिर मैंने मेरे व्हाट्सएप डीपी पर वह फोटो लगाया था, तो उसके भाई सोनू मीना, से मेरी मोबाइल पर कहासुनी हो गई थी।
जिसके कारण मैं काफी गुस्से में था सोनू मीना, को सबक सिखाने के लिए फिर मैं मेरे साथी अजय उर्फ कल्लू मीना निवासी परवरिया, धर्मेंद्र उर्फ कल्ला मीना निवासी रमडी, धर्मेंद्र उर्फ धम्मा मीना निवासी गोरियाखेड़ा, व नरेश मीना निवासी ग्राम परवरिया, को साथ लेकर दो मोटरसाइकिल से बेरिया खेड़ी, सोनू मीना, कि बहन से मिलने गया था।
पकड़ाए जाने के डर के कारण हम लोग हमारे मोबाइल फोन सब घर पर ही छोड़ कर गए थे।
बेरिया खेड़ी पहुंचकर अजय मीना, को मोटरसाइकिलो के पास चौकीदारी पर छोड़कर मैं सोनू मीना, की बहन के पास गया मेरे साथ नरेश, और धर्मेंद्र उर्फ कल्ला, तथा धर्मेंद्र उर्फ धम्मा, भी मेरे साथ थे।
मुलाकात के दौरान ही उसका भाई सोनू जो कि अंदर कमरे में सो रहा था। उसकी नींद खुल गई तो हम लोगों ने उसे पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी चिल्ला चोट सुनकर उसके माता-पिता की नींद भी खुल गई तो उनके साथ भी हमने मारपीट की फिर मेरे साथी ने सोनू को अंदर कमरे में पकड़ लिया, और मैंने डंडे से सोनू को मारा और डंडे से उसका गला दबा दिया सोनू को अचेत हालत मैं देखकर हम सभी वहां से मोटरसाइकिल से भागकर घर आ गए थे।
पुलिस ने दीपक, धर्मेंद्र उर्फ कल्ला, अजय, नरेश, तथा धर्मेंद्र उर्फ धम्मा, पांचो आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं घटना में प्रयुक्त डंडे व उनकी मोटरसाइकिल को भी विधिवत जप्त कर लिया गया।
पांचों आरोपीयो को माननीय न्यायालय के समक्ष जल्द ही पेश कर दिया जाएगा।

रिपोर्ट कमल चौहान

Also Read विभिन्न जगहों से 15 लीटर अवैध देसी शराब के साथ एक महिला सहित तीन कारोबारी गिरफ्तार

Related Posts

Follow Us